UP: शादी के 40 साल बाद घर में गूंजी किलकारियां, 54 साल की श्यामा ने दिया जुड़वां बच्चों को जन्म
Lucknow News in Hindi

UP: शादी के 40 साल बाद घर में गूंजी किलकारियां, 54 साल की श्यामा ने दिया जुड़वां बच्चों को जन्म
भोपाल का डॉक्टर दंपती देश की सेवा के लिये अपनी 7 माह की बच्ची से रह रहा है दूर (फाइल फोटो)

शाहजहांपुर की निवासी श्यामा देवी और उनके पति राम दर्शन की शादी 40 साल पहले हुई थी. अब जाकर इनको मां-बाप बनने की खुशी मिली है.

  • Share this:
लखनऊ. इसे अब कुदरत का करिश्मा ही कहेंगे कि जिस घर के आंगन में 40 साल तक बच्चों की किलकारी नहीं गूंजी अब वहां सोहर गाए जा रहे हैं. शादी के 40 साल बाद जब जिन्दगी अपने आखिरी सफ़र की तरफ बढ़ रही थी और चिंता इस बात की थी कि अब वंश कैसे बढ़ेगा, तभी यह चमत्कार हुआ. शाहजहांपुर (Shahjahanpur) की रहने वाली 54 साल की श्यामा देवी और 65 साल के राम दर्शन दो जुड़वां (Twins) बच्चों के मां-बाप बने हैं. उम्र के इस पड़ाव पर श्यामा देवी ने लखनऊ के एक अस्‍पताल में दो जुड़वां बच्चों को जन्म दिया है. जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं.

शाहजहांपुर की निवासी श्यामा देवी जिनकी उम्र 54 साल है और उनके पति राम दर्शन की उम्र 65 साल है. शादी के 40 साल के इंतजार के बाद इनकी सूनी गोद में खुशियां आई हैं. वह भी एक बच्चे के रूप में नहीं, बल्कि जुड़वां बच्चे के रूप में.

सिजेरियन से 40 साल बाद पैदा हुए जुड़वां बच्चे
राजधानी लखनऊ के क्वीन मैरी अस्पताल में सिजेरियन हुआ और 40 साल के बाद दोनों के परिवार में खुशियां आईं. श्यामा देवी ने एक बेटी और एक बेटे को जन्‍म दिया है. जुड़वां बच्चों की मां श्यामा देवी कहती हैं, 'मेरी शादी 14 साल की उम्र में हो गई थी. उस वक्त मेरे पति की उम्र 22 साल थी. शादी के बाद वर्षों तक हम बच्चा होने का इंतजार करते रहे, लेकिन ऊपर वाले को ऐसा मंजूर नहीं था. मेरे पति मूलतः किसान हैं. हमारे पास इतना पैसा नहीं था कि हम शहर जाकर अपना इलाज करवा सकें. हमने कई तरह के घरेलू नुस्खे अपनाए, लेकिन उसका कोई फायदा नहीं मिला. लेकिन, अब मां बनने के बाद काफी खुश हूं.'
क्या कहता हैं मेडिकल साइंस?


महिला रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अमिता अग्रवाल इस संबंध में कहती हैं, 'महिलाओं में आमतौर से उम्र बढ़ने के साथ हार्मोन्स बेहद कम हो जाते हैं और इसीलिए उनमें माहवारी का आना भी बंद हो जाता है. माहवारी का आना जैसे ही बंद होता है वैसे ही महिला के शरीर में अंडे बनने भी खत्म हो जाते हैं. ऐसा बहुत कम देखा जाता है कि माहवारी खत्म होने के बाद भी अंडे बन जाएं. इस पूरे केस में ऐसा ही कुछ हुआ है. यह अप्रत्याशित घटना है. लाखों में एक या दो ऐसी घटना होती है कि जब महामारी खत्म होने के बाद भी महिला के शरीर में अंडे बनते रहें. शाहजहांपुर की इस दंपत्ति के केस में भी ऐसा ही हुआ है.'

दंपति बेहद खुश
शादी के करीब 40 साल के बाद इस तरह की खुशी मिलने से एक तरफ दंपति खुश है. वहीं, दूसरी तरफ यह बात भी चिकित्सा विज्ञान के लोग मान रहे हैं कि इस तरह का करिश्मा बेहद कम ही देखा जाता है. फिलहाल सिजेरियन के बाद महिला पूरी तरह से स्वस्थ है और उसके दोनों बच्चे भी स्वस्थ हैं.

ये भी पढ़ें:

स्वास्थ्य विभाग की टीम पर पथराव करने में 7 महिलाओं समेत 17 गिरफ्तार

COVID-19: नोएडा में हॉटस्पॉट लिस्ट से चार बाहर, नहीं मिला कोई पॉजिटिव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading