2017 में 19 सीटें जीतने वाली बसपा के पास अब नहीं बची दहाई की भी संख्या, ऐसे टूटे विधायक

बसपा के 10 विधायक हो चुके हैं कम (file photo)
बसपा के 10 विधायक हो चुके हैं कम (file photo)

बसपा (BSP) के पास कुल संख्या 9 ही बचती है, जो कि पार्टी के लिए चिंता का सबब है और भविष्य में बड़ी चुनौती भी. खासकर बहुजन समाज में विश्वसनीयता बनाए रखने की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 11:18 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. 2017 के विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में अब तक का बेहद ख़राब प्रदर्शन करने वाली बहुजन समाज पार्टी (BSP) की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं. साढ़े तीन साल में ही 19 विधायकों वाली बसपा के 10 विधायक पार्टी से या तो निलंबित हो चुके हैं या फिर छोड़कर जा चुके हैं. लिहाजा आज पार्टी के पास दहाई की भी संख्या नहीं बची है. अगर चर्चाओं की बात करें तो तीन विधायक और हैं जो बागी हो सकते हैं. अगर इन्हें भी मिला लें बसपा के पास कुल संख्या 6 ही बचती है, जो कि पार्टी के लिए चिंता का सबब है और भविष्य में बड़ी चुनौती भी. खासकर बहुजन समाज में विश्वसनीयता बनाए रखने की.

2017 में 19 सीटें जीती थी

दरअसल, 2017 के चुनाव में बसपा के सदस्यों की संख्या 19 थी. आज की तारीख में दहाई की संख्या भी बसपा के पास नहीं है. 2018 में सबसे पहले उन्नाव से चुने गए अनिल सिंह ने एमएलसी चुनाव में बगावत कर दी और बीजेपी के खेमे में जा खड़े हुए. इसके बाद उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया गया. 2019 मेंअंबेडकर नगर से विधायक चुने गए रितेश पांडेय सांसद बन गए. इसके बाद 2019 में हुए उपचुनाव में इस सीट पर सपा ने क़ब्ज़ा कर लिया. 2019 में ही बसपा सरकार में मंत्री रहे रामवीर उपाध्याय को बसपा ने निष्कासित कर दिया.



अब सात और विधायक हुए बाहर
लेकिन बसपा को सबसे बड़ा झटका राज्यसभा चुनाव में लगा. बुधवार को पार्टी के 7 विधायकों ने बागी रुख अख्तियार कर लिया. इसमें श्रावस्ती से असलम राईनी, हापुड़ से असलम अली चौधरी, इलाहाबाद से हाकम लाल बिंद व मुज्तबा सिद्दीकी, हरि गोविंद भार्गव, जौनपुर से सुषमा पटेल और आज़मगढ़ से वंदना सिंह शामिल हैं. इसके बाद गुरुवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने सभी को पार्टी से निलंबित करते हुए भविष्य में किसी भी चुनाव में टिकट ने देने का ऐलान कर दिया. साथ ही दल-बदल कानून के तहत कानूनी कार्रवाई की बात भी कही.

अब 9 हा बसपा की विधानसभा में संख्या

अगर इन सभी को मिला लिया जाए तो मौजूदा समय में बसपा के पास 19 में से महज 9 विधायक ही बचे हैं, जबकि तीन अन्य विधायकों के भी पार्टी छोड़ने की चर्चाएं हैं. कहा जा रहा है कि कुछ विधायक और बसपा के बड़े नेता सपा के सीधे सम्पर्क में हैं. आने वाले दिनों में ये सपा का झंडा बुलंद करते नजर आ सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज