सुर्खियां: मायावती ने कहा- बंटने न पाए मुसलमानों के वोट, फर्जी नौकरियां बांटकर करोड़ों वसूले

बसपा सुप्रीमो मायावती की फाइल फोटो
बसपा सुप्रीमो मायावती की फाइल फोटो

बेरोजगार युवकों को सरकारी नौकरी दिलाने का झांसा देकर करोड़ों रुपये वसूलने वाले गिरोह ने प्रयागराज और वाराणसी में फर्जी सरकारी दफ्तर खोल डाला.

  • Share this:
बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया मायावती (Mayawati) ने मुस्लिम मतों के न बंटने का आह्वान कर ध्रुवीकरण को हवा दे दी है. रविवार को पश्चिम उत्तर प्रदेश के देवबंद में गठबंधन की पहली चुनावी जनसभा में मायावती ने कहा कि मेरठ, सहारनपुर व मुरादाबाद मंडलों में मुस्लिम वोटर ज्यादा हैं, वे भावनाओं में बहकर अपने मतों को न बंटने दें. गठबंधन की पहली साझा रैली को राजधानी लखनऊ के सभी प्रमुख अखबारों ने प्रमुखता से जगह दी है.

फर्जी नौकरियां बांटकर करोड़ों वसूले

हिंदुस्तान लिखता है कि बेरोजगार युवकों को सरकारी नौकरी दिलाने का झांसा देकर करोड़ों रुपये वसूलने वाले गिरोह ने प्रयागराज और वाराणसी में फर्जी सरकारी दफ्तर खोल डाला. चंगुल में फंसे युवकों को फर्जी नियुक्ति पत्र दिया और फर्जी दफ्तर में नौकरी भी शुरू करा दी.



भाजपाइयों और गठबंधन कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प
अमर उजाला लिखता है कि अलीगढ़ महानगर के मुस्लिम बाहुल जमालपुर में प्रचार करने गए भाजपाइयों और गठबंधन के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हो गईं. भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के पदाधिकारियों का विरोध करते हुए गठबंधन कार्यकर्ताओं ने काले झंडे दिखाए.सांसद व भाजपा मुर्दाबाद और पाकिस्तान समर्थक नारे भी लगाए.

पहले चरण में बड़े दलों के सभी प्रत्याशी करोड़पति

एनबीटी लिखता है पहले चरण में यूपी की आठ लोकसभा सीटों पर होने वाले चुनाव में प्रमुख राजनीतिक दलों ने आपराधिक पृष्ठभूमि वाले या करोड़पति उम्मीदवारों पर ही दांव लगाया है. इन सीटों पर 11 अप्रैल को मतदान होना है. 96 उम्मीदवार मैदान में हैं. 24 के खिलाफ आपराधिक मामले हैं. इनमें 17 पर तो गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं. इलेक्शन वॉच ऐंड एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉम्स की रविवार को जारी रिपोर्ट में यह तथ्य सामने आए हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज