आम्रपाली ग्रुप के ऑडिटर अनिल मित्तल निकले कोरोना पॉजिटिव, ED दफ्तर सील
Lucknow News in Hindi

आम्रपाली ग्रुप के ऑडिटर अनिल मित्तल निकले कोरोना पॉजिटिव, ED दफ्तर सील
प्रवर्तन निदेशालय

जिसके बाद राजधानी लखनऊ के ईडी दफ्तर को तीन दिन के लिए बंद कर सैनिटाइज किया जा रहा है. साथ ही गिरफ्तार करने वाली टीम भी 14 दिनों तक क्वारंटाइन रहेगी.

  • Share this:

लखनऊ. आम्रपाली ग्रुप ऑफ कंपनीज (Amrapali Group of Companies) के खिलाफ दर्ज मनी लांड्रिंग (Money Laundering) के एक मामले में पूछताछ के बाद ईडी (ED) ने मंगलवार को ऑडिटर अनिल कुमार मित्तल (Anil Kumar Mittal) को गिरफ्तार किया. मंगलवार को आरोपी को ईडी की विशेष कोर्ट में पेश किया गया था, जहां से जज ने अनिल मित्तल को 7 दिन के लिए ईडी की कस्टडी में भेजने का आदेश दिया था. इसी दौरान पूछताछ से पहले कराए गए अनिल मित्तल के कोरोना टेस्ट (Corona Test) की रिपोर्ट आ गई जो पॉजिटिव निकली. जिसके बाद राजधानी लखनऊ के ईडी दफ्तर को तीन दिन के लिए बंद कर सैनिटाइज किया जा रहा है. साथ ही गिरफ्तार करने वाली टीम भी 14 दिनों तक क्वारंटाइन रहेगी.


बता दें आरोपी अनिल मित्तल पर 2008 से लेकर 2015 के बीच फर्जी ऑडिट कर आम्रपाली ग्रुप की बैलेंस शीट बनाने का आरोप है. इसी बैलेंस शीट के आधार पर आम्रपाली ग्रुप को बैंकों से बड़े कर्ज मिले थे. इसी मामले में ईडी ने मंगलवार को अनिल मित्तल को पूछताछ   गिरफ्तार कर लिया.

सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश पर की जा रही जांच

गौरतलब है कि आम्रपाली ग्रुप के निदेशकों पर निवेशकों के करीब साढे़ छह हजार करोड़ रुपए के गबन का आरोप है. इस अपराध में नोएडा और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों की भी मिलीभगत का मामला उजागर हुआ है. प्रवर्तन निदेशालय सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर ही इस मामले की जांच में जुटा हुआ है. आम्रपाली ग्रुप में नोएडा में लगभग 18 मामले दर्ज हैं. पिछले साल जुलाई महीने में कंपनी के डायरेक्टर के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉरन्ड्रिंग एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया गया था.
ये भी पढ़ें:



UP: अब गाड़ी ड्राइव करते वक्त मोबाइल पर बात करना पड़ेगा भारी, देना होगा इतना जुर्माना

धर्मेंद्र यादव के बाद अब सपा विधायक हुए Corona संक्रमित, जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद हड़कंप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज