रोजाना 900 लोगों को मुफ्त में भोजन कराता है लखनऊ का ये ‘फूडमैन’

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 5, 2019, 1:46 PM IST
रोजाना 900 लोगों को मुफ्त में भोजन कराता है लखनऊ का ये ‘फूडमैन’
लखनऊ के विशाल सिंह अब फूडमैन के नाम से चर्चित हो गए हैं. ये सरकारी अस्पतालों में सैकड़ों तीमारदारों को रोजाना भोजन कराते हैं.

ये कहानी विशाल सिंह नाम के शख्स की है, जो लखनऊ (Lucknow) के सरकारी अस्पतालों में इलाज करा रहे लोगों के तीमारदारों के लिए उम्मीद की किरण हैं.

  • Share this:
लखनऊ.  ये कहानी विशाल सिंह नाम के शख्स की है, जो लखनऊ (Lucknow) के सरकारी अस्पतालों में इलाज करा रहे लोगों के तीमारदारों के लिए उम्मीद की किरण हैं. दरअसल विशाल जब छोटे थे तो  पिता का गुरुग्राम (Gurugram) के एक अस्पताल में इलाज के दौरान देहांत हो गया था. इलाज में सारा पैसा खर्च हो चुका था. अस्पताल में उन्हें कई बार भूखे पेट सोना पड़ा था. इसके बाद उन्होंने कसम खाई कि अस्पताल में किसी तीमारदार को भूखा नहीं रहना होगा. आज विशाल सिंह लखनऊ के तीन बड़े अस्पताल, जिनमें लोहिया अस्पताल और बलरामपुर अस्पताल भी शामिल है, में रोजाना करीब 900 लोगों को भोजन कराते हैं.

विशाल सिंह कहते हैं कि पिता के इलाज के दौरान वह भूखे तक रहे और अस्पताल में उनके जैसे तमाम लोग थे, जो दवाओं और इलाज के खर्च के कारण भूखे ही समय काटते हैं. विशाल कहते हैं कि उस समय वह बहुत छोटे थे और सोचते थे कि कभी न कभी वह लोगों के पेट भरने का काम जरूर करेंगे. इसके बाद पिता के नहीं रहने पर वह लखनऊ आए और संघर्ष शुरू हुआ. इस दौरान साइकिल स्टैंड पर टोकन भी लगाने का काम किया, चाय भी बेची. उस दौरान भी जरूरतमंदों की सहायता अपनी छोटी सी कमाई में करने की कोशिश करता था.

2005 में मेडिकल कॉलेज में रोजाना 300 लोगों को भोजन कराने से हुई शुरुआत 

धीरे-धीरे ये काम बढ़ता चला गया. इसके बाद पैसे के अभाव में हमने घर से भोजन बनाकर अस्पतालों में तीमारदारों को खिलाना शुरू किया. ये सिलसिला चलता रहा. इसके बाद हमें 2005 में मेडिकल कॉलेज से जगह मिली. और विजय श्री फाउंडेशन की शुरुआत उन्होंने की. वहां रोजाना 300 लोगों को भोजन कराने का सिलसिला शुरू हुआ. फिर धीरे-धीरे ये सेवा और आगे बढ़ी बलरामपुर अस्पताल पहुंची और अब राम मनोहर लोहिया अस्पताल में ये सेवा शुरू हो गई है. विशाल सिंह कहते हैं कि अब उन्होंने सेंट्रलाइज किचन बनाया है. उनकी कोशिश है कि लखनऊ के सभी अस्पतालों में ये सेवा शुरू हो. उनका संकल्प है कि वह रोज 2500 लोगों को भोजन कराएं.

Vishal singh
सरकारी अस्पतालों की तरफ से विशाल सिंह को तीमारदारों की सेवा के लिए जगह भी दी गई है.


स्मृति ईरानी, वीवीएस लक्ष्मण ने की तारीफ

विशाल कहते हैं कि इस सेवा के दौरान कई बार ये भी समय आया, जब उनके पास पैसा नहीं रहा, वह डिप्रेशन भी चले गए थे. लेकिन आज समाज खुद इस सेवा में आगे आ रहा है, इस कार्य को सराह रहा है. लोग अपनी शादी के सालगिरह, जन्मदिन या किसी की स्मृति में यहां आकर सेवा करते हैं. उन्हें बेहद खुशी है कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण जैसे सम्मानित लोगों ने उनकी इस मुहिम को ट्वीट के माध्यम से सराहना की. वह चाह रहे हैं कि ये मिशन आगे चले. अस्पतालों में लोगों को सेवा की जरूरत है.
Loading...

vishal singh foodman
अपनी सेवा के लिए विशाल सिंह कई बार पुरस्कृत भी हो चुके हैं.


टोकन सिस्टम से चलती है पूरी व्यवस्था

उन्होंने कहा कि इस समय वह रोजाना 900 लोगों को भोजन करा रहे हैं. व्यवस्था टोकन के माध्यम से चलती है. टोकन अस्पताल के वार्ड में जाते हैं और लोग उसके माध्यम से आते हैं. हमारी कोशिश है कि तीमारदारों को रोज भरपेट भोजन जिसमें दाल, चावल, रोटी, सब्जी, पापड़, सलाद मिले. ये मैन्यू रोज बदलता रहता है. अगर किसी ने सहायता कर दी तो उसके हिसाब से मैन्यू नहीं तो हमारा अपना शेड्यूल चलता रहता है. यही नहीं इसमें डब्ल्यूएचओ के अनुसार हाइजीन का भी पूरा ख्याल रखते हैं. किचन से लेकर भोजन में सफाई का पूरा ध्यान रखा जाता है.

विशाल कहते हैं कि रोजाना 900 और महीने में 27000 लोगों को भोजन कराना बड़ी जिम्मेदारी है, जाहिर है उनके पास इतना धन या साधन नहीं है. इसलिए सुबह 6 बजे से लेकर रात 12 बजे तक उनकी दौड़ भाग, सामग्री जुटाने की मुहिम चालू रहती है. कई लोग उनकी इस सेवा को राजनीति या तरह-तरह की बातें भी करते हैं लेकिन उनके साथ ऐसे लोगों का भी विश्वास है, जो ये जानते हैं कि इस सेवा से बढ़कर कुछ भी नहीं है.

रिपोर्ट: माेहम्मद शबाब

ये भी पढ़ेंं:

यूपी विधानसभा उपचुनाव में जीत का मंत्र देने बसपा सुप्रीमो मायावती ने बुलाई अहम बैठक

बीजेपी MLA ने गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर की मांग, यूपी में भी लागू हो NRC

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 12:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...