COVID-19: KGMU में एड्स पीड़ित ने 6 दिनों में दी कोरोना को मात, अस्‍पताल से डिस्‍चार्ज
Lucknow News in Hindi

COVID-19: KGMU में एड्स पीड़ित ने 6 दिनों में दी कोरोना को मात, अस्‍पताल से डिस्‍चार्ज
भारत में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की दर पूरी दुुनिया के मुकाबले बहुत कम है. वहीं, संक्रमितों की संख्‍या के मामले में भारत शीर्ष 10 देशों में शामिल हो गया है.

HIV पीड़ित की इम्युनिटी बेहद कमजोर होती है, जबकि Coronavirus से जंग में इम्युनिटी का बेहद अहम रोल होता है.

  • Share this:
लखनऊ. राजधानी लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) में एड्स (AIDS) जैसी खतरनाक बीमारी से पीड़ित मरीज ने कोरोना (Coronavirus) को हरा दिया. केजीएमयू के डॉक्टरों ने महज 6 दिन में मरीज को ठीक कर दिया. सोमवार को दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद मरीज को डिस्चार्ज कर दिया गया. बता दें कि यह प्रदेश का पहला एड्स रोगी है, जिसने कोरोना को हराकर दुसरे संक्रमितों का हौसला बढ़ाया है.

मेडिसिन विभाग के डॉक्टर हिमांशु ने बताया कि दिल्ली से गोंडा जाते वक्त मरीज घायल हो गया था, जिसके बाद उसे ट्रामा सेंटर में एडमिट कराया गया था. जांच में संक्रमण की पुष्टि हुई तो उसे आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया गया. इलाज के दौरान पता चला कि मरीज एचआईवी पीड़ित भी है. एचआईवी पीड़ित होने के बावजूद डॉक्टरों की मेहनत से मरीज 6 दिन में ही संक्रमण से मुक्त हो गया और सोमवार को उसे डिस्चार्ज कर दिया गया.

कमजोर होती है HIV पीड़ित की इम्युनिटी
दरअसल, सामान्य तौर पर एचआईवी पीड़ित की इम्युनिटी बेहद कमजोर होती है. जबकि कोरोना से जंग में इम्युनिटी का बेहद अहम रोल होता है. अब तक यही बात सामने आई है कि जिनकी इम्युनिटी मजबूत है वे कोरोना से जंग जीत रहे हैं. बावजूद इसके इस मरीज ने कोरोना से लड़ाई जीती, जो कि दूसरे मरीजों का हौसला बढ़ाएगा.
14 दिन होम क्वारंटाइन के निर्देश


डॉ हिमांशु ने बताया कि एड्स जैसी बीमारी के बाद कोरोना का संक्रमण बेहद खतरनाक है. लेकिन, डॉक्‍टरों की मेहनत से मरीज ठीक हो गया है. अब उसे 14 दिन के होम क्वारंटाइन में रहने की सलाह दी गई है.

ये भी पढ़ें:

योगी सरकार देगी 1.5 लाख रियल एस्टेट और 10 हजार ड्राइवर सहित इन कामगारों को रोजगार

लॉकडाउन के बीच झांसी में पाकिस्तानी टिड्डी दल से जंग, डीएम ने संभाला मोर्चा, 40 लाख टिड्डियां ढेर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज