CM योगी आदित्यनाथ ने किया NEET टॉपर आकांक्षा सिंह का सम्मान, पढ़ाई का पूरा खर्च उठाएगी सरकार

नीट टॉपर आकांक्षा सिंह को सीएम योगी ने किया सम्मानित
नीट टॉपर आकांक्षा सिंह को सीएम योगी ने किया सम्मानित

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने आकांक्षा सिंह (Topper Akanksha Singh) और इनके भाई को एक-एक टेबलेट देकर सम्मानित किया. साथ ही आकांक्षा की पढ़ाई और हॉस्टल के खर्च की जिम्मेदारी भी सरकार द्वारा पूरी किए जाने के निर्देश दिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 10:49 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बुधवार को नीट-2020 (NEET-2020) टॉपर आकांक्षा सिंह (Akanksha Singh) को अपने 5 कालिदास आवास पर सम्मानित किया. कुशीनगर की रहने वाली आकांक्षा सिंह ने नीट परीक्षा में 100 फ़ीसदी अंक हासिल किये, लेकिन उम्र कम होने की वजह से उन्हें दूसरा स्थान मिला. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आकांक्षा सिंह और इनके भाई को एक-एक टेबलेट देकर सम्मानित किया. साथ ही आकांक्षा की पढ़ाई और हॉस्टल के खर्च की जिम्मेदारी भी सरकार द्वारा पूरी किए जाने के निर्देश दिए.

बताया देश की बेटियों के लिए प्रेरणा

मुख्यमंत्री ने आकांक्षा सिंह को सम्मानित करने के बाद कहा कि यह उपलब्धि न सिर्फ कुशीनगर व प्रदेश बल्कि पूरी देश की बेटियों के लिए प्रेरणा का बनेगी. उन्होंने कहा कि यह उन लोगों के लिए भी संदेश है जो बेटियों को कम आंकते हैं और उन्हें पढ़ने नहीं भेजते. मुख्यमंत्री ने कहा कि आकांक्षा न्यूरो सर्जन बनना चाहती हैं. उनकी रैंक के मुताबिक उन्हें एम्स में एडमिशन मिल जाएगा.



पढ़ाई का पूरा खर्च उठाएगी सरकार
मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव आरके तिवारी को निर्देश दिया कि आकांक्षा सिंह की यूजी कोर्स की पूरी पीस और हॉस्टल के खर्चे  का पूरा विवरण परिवार से लेकर उसका एक मुश्त भुगतान कर दिया जाए ताकि बाद में परिवार को भटकना न पड़े. इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने गांव की एक सड़क आकांक्षा के नाम पर किए जाने की भी घोषणा की.

आकांक्षा बोलीं- CM से मुलाक़ात सपना पूरा होने जैसा

मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किए जाने पर आकांक्षा सिंह ने कहा कि यह किसी सपने के पूरा होने जैसा था. उन्होंने सरकार के मिशन शक्ति अभियान को भी सराहा और कहा कि इससे उन्हें प्रेरणा मिली है. बता दें आकांक्षा सिंह के पिता एयरफोर्स से रिटायर हैं. आकांक्षा ने हाईस्कूल की परीक्षा कुशीनगर से ही 97 फ़ीसदी अंकों के साथ उत्तीर्ण की. इसके बाद इंटर की पढ़ाई उन्होंने दिल्ली से की. आकांक्षा ने मेडिकल की तैयारी हाईस्कूल से ही शुरू कर दी थी और वे कोचिंग के 70 किलोमीटर दूर गोरखपुर डेली जाती थीं. आकांक्षा ने नीट में 720 में से 720 अंक हासिल किए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज