बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते हफ्ते में तीन दिन बंद रहेगा लखनऊ सर्राफा मार्केट

कोरोना के चलते हफ्ते में तीन दिन बंद रहेगा लखनऊ सर्राफा बाजार (सांकेतिक तस्वीर)

कोरोना के चलते हफ्ते में तीन दिन बंद रहेगा लखनऊ सर्राफा बाजार (सांकेतिक तस्वीर)

Lucknow Sarrafa Market: लखनऊ सर्राफा एसोसिएशन के उपाध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल ने बताया कि शहर में कुच 12 क्षेत्रीय इकाईयां है. सभी को अलग-अलग इस बात की जिम्मेदारी दी गयी है कि वे बंदी को लेकर खुद से फैसला कर सकें.

  • Share this:
लखनऊ. राजधानी में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के बढ़ते मामलों को देखते हुए रात का कर्फ्यू तो पहले ही लगा दिया गया था लेकिन, अब बाजार भी बंद होने लगे हैं. इसी क्रम में शहर के चौक इलाके की सर्राफा की दुकानें (Jwellery Shops in Lucknow) हफ्ते में तीन दिन बंद रहेंगी. चौक के सर्राफा व्यापारियों ने तय किया है कि हफ्ते में तीन दिन बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को ज्वैलरी की दुकानें बंद रखी जायेंगी. बता दें कि ये फैसला जिला प्रशासन ने नहीं बल्कि खुद सर्राफा व्यापारियों ने लिया है.

चौक के सर्राफा व्यापारियों की पहल पर शहर के बाकी इलाकों के सर्राफा व्यापारियों के बीच भी बंदी को लेकर फैसला किया जा रहा है. लखनऊ सर्राफा एसोसिएशन के उपाध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल ने बताया कि शहर में कुच 12 क्षेत्रीय इकाईयां है. सभी को अलग-अलग इस बात की जिम्मेदारी दी गयी है कि वे बंदी को लेकर खुद से फैसला कर सकें. अमीनाबाद के सर्राफा व्यापारियों के बीच भी इस विषय को लेकर चर्चा चल रही है. सभी ने एकसुर में चौक के व्यापारियों के बंदी के फैसले का स्वागत किया है. हालांकि बंदी पर अभी आखिरी फैसला लेना बाकी है.

लखनऊ में तेजी से फ़ैल रहा संक्रमण

बता दें कि लखनऊ में कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है. हालात ये हैं कि प्रदेश में सामने आने वाले नये मामलों में से एक तिहाई सिर्फ लखनऊ से आ रहे हैं. 12 अप्रैल को जारी आंकड़े के मुताबिक पिछले 24 घण्टों में यूपी में 13 हजार 685 नये मामले सामने आये हैं. लखनऊ में ये आंकड़ा 3 हजार 600 के पार है.
कोरोना की चेन तोड़ने के लिए जरुरी

एसोसिएशन के उपाध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल ने कहा कि ऐसा करने से नुकसान तो बड़ा होगा लेकिन, कोरोना की चेन तोड़ने के लिए ये बेहद जरूरी है. वैसे तो हर साल इन दिनों में सहालग की वजह से काफी व्यापार होता था लेकिन, पिछले साल की ही तरह इस साल भी शादी-ब्याह के कार्यक्रम लोगों ने आगे बढ़ा दिये हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज