Lucknow News: कोरोना से हो रही मौतों के बाद एक्शन में नगर निगम, अंतिम संस्कार के लिए 90 नए शवदाह प्लेटफार्म तैयार

 लखनऊ में कोरोना संक्रमित शवों के अंतिम संस्कार के बनाए गए नए प्लेटफार्म

लखनऊ में कोरोना संक्रमित शवों के अंतिम संस्कार के बनाए गए नए प्लेटफार्म

Lucknow Cremation House: अब तक कोविड शवों के अंतिम संस्कार के लिए महज दो प्लेटफॉर्म ही थे. रविवार को देर रात इसका फैसला करते हुए सभी प्लेटफॉर्म्स पर दाह संस्कार के लिए सभी इंतजाम कर दिया गया है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) और आसपास के जिलों में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) की वजह से हो रही मौतें और बड़ी संख्या में अंतिम संस्कार के लिए आ रहे शवों को देखते हुए लखनऊ नगर निगम (Lucknow Municipal Corporation) ने अंतिम संस्कार के लिए 90 नए प्लेटफॉर्म तैयार किए हैं. अब तक कोविड शवों के अंतिम संस्कार के लिए महज दो प्लेटफॉर्म ही थे. रविवार को देर रात इसका फैसला करते हुए सभी प्लेटफॉर्म्स पर दाह संस्कार के लिए सभी इंतजाम कर दिया गया है.

नगर निगम प्रशासन के मुताबिक, रविवार को रात 10 बजे तक 50 कोविड शवों का दाह संस्कार किया गया. महज दो प्लेटफॉर्म होने के चलते पीड़ित परिवारों को कई घंटे इंतजार करना पड़ रहा था. ऐसा अब न हो इसके लिए बैकुंठधाम पर 60 और गुलालाघाट पर 30 नए प्लेटफॉर्म तैयार किए गए हैं. इनपर केवल कोविड शवों का ही दाह संस्कार किया जाएगा. अब तक बैकुंठधाम पर एक और गुलालाघाट पर एक इलेक्ट्रिक शवदाह गृह में ही अंतिम क्रिया हो रही थी, लेकिन शवों की भारी संख्या को देखते हुए लकड़ी से अंतिम संस्कार के लिए 90 नए प्लेटफॉर्म तैयार किए गए हैं. इन सभी पर पर्याप्त संख्या में लकड़ी और पूजन सामग्री का इंतजाम भी कर दिया गया है.

10 घंटे की चल रही थी वेटिंग

कोविड की वजह से लखनऊ में मौतों की संख्‍या इस कदर बढ़ रही है कि शवदाह कराने के लिए 8 से 10 घंटे की प्रतीक्षा सूची शनिवार तक थी, जिसमें प्‍लेटफार्म की कमी भी सामने आ गई. शवों के दाह संस्‍कार के प्रोटोकॉल को किनारे कर के मशीन की जगह अब सीधे लकड़ी पर शवदाह शुरू हो गया है. ऐसे में अब नगर निगम ने अपने दोनों श्‍मशानों में 90 प्‍लेटफार्म बनवा रहा है, जिनमें से 20 बन चुके हैं, ताकि आसानी से शवदाह होते रहें.
नगर निगम ने माना- बोझ बहुत बढ़ गया

नगर निगम की ओर से बताया गया की लखनऊ में कोविड-19  केसों की बढ़ोतरी के साथ मुत्यु दर में भी वृद्धि हो रही है. इसके चलते शवदाह गृह में बढ़ी संख्या में शव आ रहे हैं, जिसके कारण शवों के दाह संस्कार में विलंब हो रहा है. इसलिए 20 प्लेटफार्म का निर्माण करा दिया गया है, जिसके कारण रविवार शाम चार बजे तक सभी शवों का दाह संस्कार पूर्ण करा दिया गया.

100 कर्मचारी भी शवदाह के लिए तैनात



100 नए कर्मचारियों को भैंसाकुंड पर तैनात कर दिया गया है. 50-50 की दो पालियों में ये कर्मचारी कार्य करेंगे. रात्रि काल में ही चिताएं तैयार कर दी जाएंगी, ताकि अगले दिन सुबह शवों के दाह संस्कार तुरंत शुरू किया जा सके. इसके अलावा साफ-सफाई के लिए अतिरिक्त कर्मचारी तैनात कर दिये गए हैं और पेयजल के लिए वाटर कूलर भी लगवाए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज