होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

लखनऊ: लोहिया संस्थान के कर्मचारी श्रीराम की हत्या का खुलासा, पत्नी ने रची थी मौत की साजिश!

लखनऊ: लोहिया संस्थान के कर्मचारी श्रीराम की हत्या का खुलासा, पत्नी ने रची थी मौत की साजिश!

Lucknow: कर्मचारी श्रीराम यादव की गोली मारकर हत्या करके शव नहर में फेंक दिया.

Lucknow: कर्मचारी श्रीराम यादव की गोली मारकर हत्या करके शव नहर में फेंक दिया.

Lucknow News: डीसीपी (पूर्वी) अमित कुमार आनंद ने बताया कि सर्विलांस व सीसीटीवी फुटेज से वारदात का खुलासा कर श्रीराम की पत्नी संगीता यादव, उसके प्रेमी अवशिष्ट कुमार समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि संगीता का अवशिष्ट से लंबे समय से प्रेम प्रसंग था. दोनों चोरी से मिलते थे. अवशिष्ट से बात करने के लिए संगीता ने एक मोबाइल फोन छिपाकर रखा था.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. राजधानी लखनऊ (Lucknow) में लापता हुए डॉ. राम मनोहर लोहिया संस्थान के कर्मचारी श्रीराम यादव की हत्या (Murder) का खुलासा पुलिस ने कर दिया है. पुलिस के मुताबिक मृतक की पत्नी ने अपने प्रेमी संग मिलकर हत्या कराई थी. विभूतिखंड पुलिस ने उसकी पत्नी, पॉलीटेक्निक के प्रोफेसर उसके प्रेमी और एक अन्य महिला समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर हत्याकांड का खुलासा किया. बता दें कि बाराबंकी के बड्डूपुर इलाके में राम मनोहर लोहिया संस्थान के कर्मचारी श्रीराम यादव की गोली मारकर हत्या करके शव नहर में फेंक दिया गया था.

श्रीराम यादव (42) अस्पताल परिसर स्थित सरकारी आवास में रहते थे. 18 दिसंबर की देर शाम उनकी कार खरीदने को दो युवक आए. टेस्ट ड्राइव कराने के लिए श्रीराम संग चले गए. देर रात तक घर न लौटने पर परिवारीजन ने रिश्तेदारों व दोस्तों से संपर्क किया, पर कुछ पता नहीं चला. 19 दिसंबर को श्रीराम के भाई मनीष यादव ने विभूतिखंड थाने में प्रो. अवशिष्ट व अन्य अज्ञात युवकों के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई. पुलिस ने छानबीन की तो 22 दिसंबर को बाराबंकी में अयोध्या हाईवे से लिंक रोड पर कुरौली के पास श्रीराम की कार मिल गई.

मृतक की पत्नी का था प्रेम प्रसंग
डीसीपी (पूर्वी) अमित कुमार आनंद ने बताया कि सर्विलांस व सीसीटीवी फुटेज से वारदात का खुलासा कर श्रीराम की पत्नी संगीता यादव, उसके प्रेमी अवशिष्ट कुमार समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि संगीता का अवशिष्ट से लंबे समय से प्रेम प्रसंग था. दोनों चोरी से मिलते थे. अवशिष्ट से बात करने के लिए संगीता ने एक मोबाइल फोन छिपाकर रखा था. दिसंबर की शुरुआत में श्रीराम ने यह फोन देख लिया. उसे पता चल गया कि संगीता चोरी-छिपे अवशिष्ट से बातें करती है. इसे लेकर झगड़ा हुआ और वह पत्नी पर नजर रखने लगा. संगीता ने अवशिष्ट को इसकी जानकारी दी. फिर दोनों ने श्रीराम को रास्ते से हटाने की साजिश रच डाली.

ऐसे बनाया हत्या का प्लान
अवशिष्ट ने जहांगीराबाद में पॉलीटेक्निक के पास स्थित तालाब में मछली पालन करने वाले दोस्त संतोष व सुशील को श्रीराम की हत्या करने के लिए राजी कर लिया. एडीसीपी (पूर्वी) सैयद कासिम आब्दी ने बताया कि श्रीराम अपनी कार बेचना चाहते थे. संगीता ने अवशिष्ट को इसकी जानकारी दी. तय हुआ कि कार खरीदने के बहाने श्रीराम को टेस्ट ड्राइव के लिए ले जाकर हत्या की जाएगी. संतोष व सुशील 18 दिसंबर की देर शाम श्रीराम के आवास पहुंचे. बातचीत के बाद श्रीराम टेस्ट ड्राइव के लिए दोनों संग चले गए. अवशिष्ट अपनी कार से पीछा कर रहा था. बीबीडी के पास अवशिष्ट की महिला मित्र कुंती मिल गई. सुशील ने उसे रिश्तेदार बताया और कहा कि इन्हें भी कार दिखानी थी.

.32 बोर की पिस्टल से मारी गोली
फिर कुंती को कार में बैठा लिया. फिर किसान पथ से बाराबंकी के बड्डूपुर जाकर संतोष व सुशील ने कार रोकी तो अवशिष्ट भी आ गया. उसे देखकर श्रीराम जब तक माजरा भांपता सुशील ने तमंचे से उस पर फायर किया जो मिस हो गया. इसके बाद संतोष ने .32 बोर की पिस्टल से श्रीराम के सीने में गोली मार दी. श्रीराम को वहीं नहर में फेंकने के बाद सभी बाराबंकी में कुरौली के पास उसकी कार लावारिस छोड़कर भाग गए. उधर, श्रीराम की दोनों बेटियां व एक बेटा पिता की हत्या व मां की गिरफ्तारी से सदमे में है.

Tags: Brutal Murder, Love marriage, Love Story, Lucknow news, Lucknow Police, Up crime news, UP news, UP police

अगली ख़बर