Home /News /uttar-pradesh /

लखनऊ रावण मंदिर:विजयादशमी पर खुलते हैं दशानन मंदिर के कपाट, विधि-विधान से होती है आरती

लखनऊ रावण मंदिर:विजयादशमी पर खुलते हैं दशानन मंदिर के कपाट, विधि-विधान से होती है आरती

चौक

चौक के रानी कटरा इलाके में यह मंदिर स्तिथ है दशानन का मंदिर.

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी एक दशानन रावण का मंदिर है. यह मंदिर 135 वर्ष पुराना है.चौक के रानी कटरा इलाके में स्थित रावण का मंदिर विजयदशमी पर ही खोला जाता है. जहां रावण का पूरा दरबार विराजमान है.दरबार में दोनों तरफ जहां रावण के मंत्री बैठे दिखाई देते हैं, वहीं रावण दरबार में सबसे ऊपर की ओर विराजमान है.

अधिक पढ़ें ...

    क्या आप जानते है उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी एक दशानन रावण का मंदिर है. यह मंदिर 135 वर्ष पुराना है.चौक के रानी कटरा इलाके में स्थित रावण का मंदिर विजयदशमी पर ही खोला जाता है.इसका निर्माण कुंदन लाल कुंज बिहारी लाल जी ने करवाया था. उनका यह मानना है कि शहर के लोग चारों धाम की यात्रा नहीं कर पाते हैं इस कारण उन्होंने इस मंदिर का निर्माण करवाया. इसी चारों धाम मंदिर में रावण का मंदिर है जहां रावण का पूरा दरबार विराजमान है.दरबार में दोनों तरफ जहां रावण के मंत्री बैठे दिखाई देते हैं, वहीं रावण दरबार में सबसे ऊपर की ओर विराजमान है. इतना ही नहीं रावण दरबार के साथ ही स्वर्ग और नर्क भी बने हुए है जहां यह दर्शाया गया है की स्वर्ग में कौन कौन विराजमान है और नर्क में हमें अपने कर्म के अनुसार क्या भोगना पड़ता है.

    चारों धाम मंदिर में चौक की रामलीला में रावण का किरदार निभाने वाले विष्णु त्रिपाठी लंकेश दशहरा पर रावण की पूजा अर्चना करते है.दशहरा में वैदिक मंत्रोचार से रावण की पूजा करते हैं. विष्णु त्रिपाठी लंकेश रामलीला में रावण का रोल भी कई वर्षों से अदा कर रहे हैं. सन 2000 से रावण की पूजा हर दशहरे पर पूजा करते आ रहे हैं.साथ ही विष्णु त्रिपाठी बताते है कि दशहरा पर घर की महिलाओं को भी रावण के दस शीशों की पूजा करनी चाहिए.

    Tags: Lucknow city, Lucknow news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर