लाइव टीवी

नए इनकम टैक्स स्लैब का लखनऊवासियों ने किया स्वागत, महिलाएं बोलीं- हमें मिलनी चाहिए थी विशेष छूट
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 1, 2020, 4:25 PM IST
नए इनकम टैक्स स्लैब का लखनऊवासियों ने किया स्वागत, महिलाएं बोलीं- हमें मिलनी चाहिए थी विशेष छूट
लखनऊ की महिलाओं ने नए इनकम टैक्स स्लैब का स्वागत किया है साथ ही कुछ मांगें भी रखी हैं. तस्वीर: प्रणीता मिश्रा (बाएं) और रेखा.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार 2.0 के दूसरे बजट (Budget 2020) में टैक्स पेयर्स और नौकरीपेशा लोगों के लिए बड़ा ऐलान किया है. इस नए इनकम टैक्स स्लैब को लेकर लखनऊ में नौकरीपेशा लोगों के साथ ही महिलाओं में उत्साह दिखाई दे रहा है.

  • Share this:
लखनऊ. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार 2.0 के दूसरे बजट (Budget 2020) में टैक्स पेयर्स और नौकरीपेशा लोगों के लिए इनकम टैक्स स्लैब का कायापलट कर दिया है. इनकम टैक्स स्लैब (Income Tax Slabs) को पांच हिस्सों में बांटा गया है. नए बदलाव के बाद अब पांच लाख रुपये तक की इनकम पर कोई टैक्स नहीं लगेगा. वहीं, 15 लाख रुपये की आमदनी पर 25 फीसदी टैक्स लगेगा. अभी तक 15 लाख रुपये की कमाई पर 30 फीसदी टैक्स लगता है. नए इनकम टैक्स स्लैब को लेकर लखनऊ में नौकरीपेशा लोगों के साथ ही महिलाओं में उत्साह दिखाई दे रहा है.

नया बदलाव इन शर्तों के साथ
वैसे नया बदलाव शर्तों के साथ है. इसके लिए आपको निवेश पर मिलने वाले छूट का लाभ छोड़ना होगा. अगर आप निवेश में छूट लेते हैं तो टैक्स की पुरानी दर ही मान्य होगी. कुल मिलाकर 15 लाख रुपये कमाने वाले को 78 हजार रुपये का फायदा संभावित है.

प्राइवेट जॉब करने वाले राजीव शुक्ल कहते हैं कि नए इनकम टैक्स स्लैब से सभी आय वर्गों को राहत मिली है. उन्होंने कहा कि अभी तक हमें ढाई से 5 लाख रुपये तक में 5 प्रतिशत टैक्स देना होता था, पिछले साल इसमें छूट दी गई थी. अब ये छूट लगातार जारी रहेगी. ये छोटी इनकम करने वाले लोगों के लिए अच्छा है क्योंकि अभी तक हमें उस टैक्स को बचाने के लिए डेढ़ लाख रुपये तक का निवेश करना पड़ता था. अब बिना निवेश के ही 5 लाख तक छूट मिलेगी. वहीं 5 से साढ़े 7 लाख रुपये पर 10 प्रतिशत टैक्स लगेगा. ये भी बेहतर है क्योंकि इस स्लैब में कई पेशेवर आते हैं. अभी तक उन्हें 20 प्रतिशत टैक्स देना होता था.



नए टैक्स सिस्टम में महिलाओं को मिलनी चाहिए थी विशेष तरजीह

वहीं प्रणीता मिश्रा कहती हैं कि ओवरऑल बजट स्वागत योग्य है. इनकम टैक्स के नए स्लैब को लेकर प्रणीता कहती हैं कि सरकार का ये कदम स्वागत योग्य है. महिलाओं के लिए भी कोई विशेष छूट होनी चाहिए थी. प्रणीता कहती हैं कि लेकिन नई टैक्स व्यवस्था में डेढ़ लाख रुपये तक का निवेश कर छूट हासिल करने की बात नहीं है. सरकार को इसे भी शामिल करना चाहिए था क्योंकि इसी बहाने लोग अपने बेहतर भविष्य के लिए कुछ पैसे जुटा लेते थे.

वहीं प्राइवेट यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर रेखा कहती हैं कि ओवरऑल बजट अच्छा है. इनकम टैक्स छूट में नए स्लैब भी ठीक हैं. लेकिन महिलाओं और काम करते हुए पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए सरकार को इनकम टैक्स में ध्यान देना चाहिए. वह कहती हैं कि अगर कोई नौकरी करते हुए पढ़ाई भी कर रहा है तो सरकार को उसके लिए भी कोई रियायत देनी चाहिए. रेखा कहती हैं कि इसके अलावा पुराने और नए स्लैब को साथ चलाने से लोगों के साथ बेहतर ऑप्शन आ गया है.

सरकार के बड़े बदलाव के बाद अब इनकम टैक्स के 5 स्लैब
पहला- 5 से 7.5 लाख तक की कमाई पर 10% टैक्स
दूसरा- 7.5 से 10 लाख रुपये तक की कमाई पर 15% टैक्स
तीसरा- 10 से 12.5 लाख तक की कमाई पर 20% टैक्स
चौथा- 12.5 से 15 लाख तक की कमाई पर 25% टैक्स
पांचवा- 15 लाख और अधिक से ऊपर की कमाई पर 30% टैक्स

अभी कितना है स्लैब
अभी मौजूदा टैक्स स्लैब के मुताबिक 2.5-5 लाख रुपये की सालाना कमाई पर 5 फीसदी टैक्स देना होता है. इसी तरह 5-10 लाख रुपये पर 20 फीसदी, जबकि 10 लाख और उससे अधिक की कमाई पर 30 फीसदी टैक्स का प्रावधान है.

ये भी पढ़ें:

लखनऊ में कोरोना वायरस का मिला संदिग्ध मरीज, जांच के लिए पुणे लैब भेजे गए नमूने

UP: गन्ना खरीद के नए फरमान से बढ़ी लाखाें किसानों की मुसीबत, योगी सरकार पर हमलावर हुआ विपक्ष

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2020, 2:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर