सपा से अलग होने के बाद पहली बार शिवपाल के साथ नजर आए मुलायम सिंह यादव

इस दौरान मुलायम सिंह यादव और शिवपाल ने लोहिया की मूर्ति पर मला पहनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी. हालांकि इस दौरान मुलायम सिंह यादव ने मीडिया से कोई बात नहीं की, लेकिन सियासी हलचल जरूर पैदा कर गए.

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 12, 2018, 2:58 PM IST
सपा से अलग होने के बाद पहली बार शिवपाल के साथ नजर आए मुलायम सिंह यादव
लोहिया ट्रस्ट में एक साथ दिखे मुलायम और शिवपाल
News18 Uttar Pradesh
Updated: October 12, 2018, 2:58 PM IST
समाजवादी पार्टी से अलग होकर सेक्युलर मोर्चा बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव के साथ पहली बार शुक्रवार को सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव नजर आए. दरअसल, राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि के मौके पर लखनऊ के लोहिया ट्रस्ट में शिवपाल और मुलायम एक साथ पहुंचे. समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के गठन के बाद यह पहला मौका था जब दोनों नेता एक साथ मंच साझा करते दिखे.

इस दौरान मुलायम सिंह यादव और शिवपाल ने लोहिया की मूर्ति पर मला पहनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी. हालांकि इस दौरान मुलायम सिंह यादव ने मीडिया से कोई बात नहीं की, लेकिन सियासी हलचल जरूर पैदा कर गए.

मुलायम की मौजूदगी में लोहिया ट्रस्ट में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए शिवपाल ने एक बार फिर दोहराया कि नेता जी (मुलायम) का आशीर्वाद उनके साथ है और आगे भी बना रहेगा. उन्होंने कहा कि भरोसा है कि नेता जी उनको आशीर्वाद देते रहेंगे. शिवपाल यादव यह लगातार कहते रहे हैं कि उन्होंने मुलायम के कहने पर ही सेक्युलर मोर्चा का गठन किया है. उन्होंने मुलायम को सेक्युलर मोर्चा का अध्यक्ष और मैनपुरी से लोकसभा चुनाव लड़ने का ऑफर भी दिया है.

गौरतलब है कि शिवपाल यादव के सेक्युलर मोर्चा बनाने के बाद मुलायम सिंह ने अखिलेश के साथ दिल्ली के जंतर-मंतर पर मंच साझा कर संकेत दिया था कि वे बेटे के साथ हैं. लेकिन एब भाई शिवपाल के साथ आकर उन्होंने सियासी पारा एक बार फिर बढ़ा दिया है.

यह भी पढ़ें:
सपा के टिकट पर PM नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ सकते हैं शत्रुघ्न सिन्हा!

राम मंदिर पर बोले राम विलास वेदांती- कोर्ट पर भरोसा नहीं, जल्द शुरू करेंगे निर्माण

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर