लखनऊ: भड़कीले कपड़े पहनने पर रोक लगी तो सर ढककर पर्यटकों को भेजने लगे कर्मचारी

लखनऊ के ऐतिहासिक इमारत इमामबाड़े में भड़कीले कपड़े पहन कर पर्यटकों के प्रवेश पर जिला प्रशासन ने रोक लगा दी है, लेकिन अधिकारियों ने सिर्फ कपड़ों पर सख्ती की तो कर्मचारी पर्यटकों को जबरदस्ती सर ढककर इमामबाड़े में भेजने लगे.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 2, 2019, 12:09 AM IST
लखनऊ: भड़कीले कपड़े पहनने पर रोक लगी तो सर ढककर पर्यटकों को भेजने लगे कर्मचारी
लखनऊ: भड़कीले कपड़े पहनने पर रोक लगी तो सर ढककर पर्यटकों को भेजने लगे कर्मचारी.
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 2, 2019, 12:09 AM IST
लखनऊ के ऐतिहासिक इमारत इमामबाड़े में भड़कीले कपड़े पहन कर पर्यटकों के प्रवेश पर जिला प्रशासन ने रोक लगा दी है, लेकिन अधिकारियों ने सिर्फ कपड़ों पर सख्ती की तो कर्मचारी पर्यटकों को जबरदस्ती सर ढककर इमामबाड़े में भेजने लगे. इसका विरोध हुआ तो जिला प्रशासन बैकफुट पर आ गया. लखनऊ का इमामबाड़ा अपनी खूबसूरती के लिए देश-दुनिया में मशहूर है, लेकिन इमामबाड़े में प्रवेश के लिए जिला प्रशासन ने अब सख्त नियम बना दिए हैं. नए नियमों के मुताबिक, अश्लील कपड़ों में अब इमामबाड़े में प्रवेश नहीं मिल सकेगा.

सर ढकने की जबरदस्ती नहीं होनी चाहिए
हाल के दिनों में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और अश्लीलता की बढ़ती शिकायतों के बाद जिला प्रशासन ने यह फैसला लिया है, हालांकि जिला प्रशासन के इस फैसले के बाद इमामबाड़े के कर्मचारियों ने वहां पर आने वाले पर्यटकों को जबरदस्ती सर ढक कर इमामबाड़े में जाने के लिए मजबूर करने लगे. कुछ लोग इसे सही तो कुछ पर्यटकों ने कहा कि सर ढकने की जबरदस्ती नहीं होनी चाहिए. पर्यटकों से जबरदस्ती सर ढकवाने वाली खबर जब News18 से प्रमुखता से दिखाई तो इसके बाद एडीएम पश्चिम संतोष कुमार ने कहा कि आदेश में केवल भड़कीले कपड़े ही है. लोगों से जबरदस्ती सर नहीं ढकवाया जा सकता. जो लोग ऐसा कर रहे हैं उन पर कार्रवाई होगी.

इमामबाड़े में प्रवेश से पहले सर ढकना जरूरी है: मौलाना कल्बे जव्वाद

आपको बता दें कि इमामबाड़ा टूरिस्ट प्लेस होने के साथ ही शिया समुदाय की बड़ी इबादतगाह भी है. इमामबाड़े में 84 टूरिस्ट गाइड हैं. इस पर शिया धर्मगुरू मौलाना कल्बे जव्वाद कहते हैं कि हुसैनाबाद ट्रस्ट में कोई शिया उलेमा नहीं है, जो अधिकारी इस ट्रस्ट में हैं उनको इमामबाड़े के बारे में सही जानकारी नहीं है. लोगों को इमामबाड़े में प्रवेश से पहले सर ढकना जरूरी है और अगर प्रशासन ऐसा नहीं करा सकता वे दोबारा प्रधानमंत्री को पत्र लिख कर इस बात की शिकायत करेंगे.

रिपोर्ट - शबाब

ये भी पढे़ं - 
Loading...

First published: July 2, 2019, 12:09 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...