'गर्भ संस्कार' पर कोर्स शुरू करेगा लखनऊ यूनिवर्सिटी, जानें कैसा होगा सिलेबस
Lucknow News in Hindi

'गर्भ संस्कार' पर कोर्स शुरू करेगा लखनऊ यूनिवर्सिटी, जानें कैसा होगा सिलेबस
लखनऊ विश्वविद्यालय नए शैक्षणिक सत्र से 'गर्भ संस्कार' पर एक सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स शुरू करने जा रहा है. (फाइल फोटो)

लखनऊ विश्वविद्यालय (Lucknow University) के नए पाठ्यक्रम के तहत गर्भवती महिला (Pregnant Woman) की विभिन्‍न जरूरतों को लेकर पढ़ाया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2020, 8:53 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
लखनऊ. लखनऊ विश्वविद्यालय (Lucknow University) नए शैक्षणिक सत्र से 'गर्भ संस्कार' (Pregnancy Courses) पर सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स शुरू करने जा रहा है. इस तरह का पाठ्यक्रम लाने वाला LU देश का पहला विश्विद्यालय होगा. इस पाठ्यक्रम के तहत एक गर्भवती महिला को क्या पहनना चाहिए, क्या खाना चाहिए, कैसा व्यवहार करना चाहिए, खुद को कैसे फिट रखना चाहिए और गर्भावस्‍था में महिलाओं के लिए किस तरह का संगीत अच्छा है जैसी जानकारी दी जाएगी. इस कोर्स के तहत छात्राओं को मातृत्व के बारे में पढ़ाया जाएगा. न्‍यूज एजेंसी ANI के अनुसार, यह पाठ्यक्रम रोजगार सृजन का भी एक माध्यम बनेगा.

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने रखा था प्रस्ताव
विश्वविद्यालय के अनुसार, पुरुष छात्र भी 'गर्भ संस्कार' वाले पाठ्यक्रम का विकल्प चुन सकते हैं. लखनऊ यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता दुर्गेश श्रीवास्तव ने एएनआई को बताया, ‘राज्य की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल लड़कियों को उनकी भावी माता की भूमिका के लिए प्रशिक्षित करने का प्रस्ताव रखा था.’ पिछले साल इसी विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के दौरान छात्रों को संबोधित करते हुए राज्‍यपाल ने महाभारत के अभिमन्यु का संदर्भ दिया था, जिन्होंने अपनी मां के गर्भ में युद्ध कौशल प्राप्त किया था. उन्होंने यह भी दावा किया था कि जर्मनी में एक संस्थान है, जिसने इस तरह का कोर्स शुरू किया था.

पाठ्यक्रम के तहत संस्कारों के बारे में जानेंगीं छात्राएं



दुर्गेश श्रीवास्तव ने कहा, ‘इस पाठ्यक्रम के लिए एक दिशा-निर्देश तैयार किया गया है, जिसमें छात्र 16 संस्कारों के बारे में जानेंगे. यह कोर्स मुख्य रूप से परिवार नियोजन और गर्भवती महिलाओं के पोषण के बारे में जानकारी देने वाला होगा. इस नए पाठ्यक्रम के तहत विभिन्न कार्यशालाओं का आयोजन भी किया जाएगा.’



डॉक्‍टरों ने जताई खुशी
स्त्री रोग विशेषज्ञों ने लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा इस पाठ्यक्रम की शुरुआत करने का स्वागत किया है. एक छात्र संजीव ने कहा, ‘पाठ्यक्रम वास्तव में अच्छा है और हम इसका स्वागत करते हैं. यह एक संवेदनशील मुद्दा है. यदि छात्रों को मातृत्व के बारे में प्रशिक्षित किया जाएगा, तो दंपति को स्वस्थ संतान पैदा करने में मदद करेगा. इसका मतलब हमारे देश भविष्य भी स्‍वस्‍थ होगा.’

वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. मधु गुप्ता ने कहा कि पाठ्यक्रम महिलाओं और बाल कल्याण कार्यक्रमों को सहायता प्रदान करेगा. उन्होंने कहा, ‘हमारे देश में एक समृद्ध संस्कृति और मूल्य हैं. गर्भाधान पूर्व और गर्भाधान दोनों के दौरान एक महिला की भावनाओं, भोजन और मानसिक शांति की देखभाल करने की आवश्यकता होती है.

ये भी पढ़ें - 

First published: February 23, 2020, 8:26 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading