अपना शहर चुनें

States

कृषि कानूनों पर बोले UP BJP अध्यक्ष- बीजेपी ने किसानों तक पहुंचाया उनका हक

उत्तर प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कृषि कानूनों के समर्थन में कहा कि किसानों को सही मायने में अब उनका हक दिया जा रहा है (फाइल फोटो)
उत्तर प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कृषि कानूनों के समर्थन में कहा कि किसानों को सही मायने में अब उनका हक दिया जा रहा है (फाइल फोटो)

यूपी बीजेपी (UP BJP) के अध्‍यक्ष स्‍वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh) ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने किसानों का हक उन तक पहुंचाने का काम किया है जो समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी (SP-BSP) की सरकारों में भ्रष्टाचारियों की जेब में चला जाता था

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 16, 2020, 10:57 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. बीजेपी और उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) की ओर से नए कृषि कानूनों (Farm Laws) को लेकर मंगलवार को भी सम्‍मेलन के जरिए किसानों से संवाद स्‍थापित किया गया. उत्तर प्रदेश बीजेपी (UP BJP) के अध्‍यक्ष स्‍वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh) ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने किसानों का हक उन तक पहुंचाने का काम किया है जो समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी (SP-BSP) की सरकारों में भ्रष्टाचारियों की जेब में चला जाता था.

बीजेपी के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनीष दीक्षित के अनुसार, मंगलवार को पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष स्‍वतंत्र देव सिंह ने गोंडा, उपमुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने वाराणसी, सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने अमेठी, जल शक्ति मंत्री डाक्‍टर महेंद्र सिंह ने मुरादाबाद और राज्‍यमंत्री नीलकंठ तिवारी ने प्रतापगढ़ में आयोजित किसान सम्‍मेलन को संबोधित किया.

गोंडा में स्वतंत्र देव सिंह ने आरोप लगाया कि किसानों का हक मारने वाले विपक्ष के लोग आज किसान हितैषी होने का नाटक रच रहे हैं.



दीक्षित ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह बुधवार को बांदा के किसान सम्‍मेलन में शामिल होंगे.


'विपक्ष इसलिए एकजुट है क्योंकि वो चुनाव परिणाम देख कर निराश और हताश है'

वहीं, अमेठी से मिली खबर के अनुसार, उत्तर प्रदेश सरकार के सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि कृषि कानून को लेकर विपक्ष एकजुट इसीलिए है क्योंकि वो तमाम चुनाव के परिणाम को देखकर हताश और निराश हो चुका है. उन्होंने कहा कि जो लोग विरोध कर रहे हैं उनसे पूछा जाए कि किसान बिल में क्या गलत है तो वह कमी बताने को तैयार नहीं हैं. उन्होंने दावा किया ऐसे लोगों को इन कृषि कानून की जानकारी ही नहीं है.

मंत्री ने कहा कि इस कानून में कुछ भी ऐसा नहीं है जो किसानों के विरोध में हो.

बता दें कि नए किसान कानूनों के समर्थन में 14 दिसंबर से बीजेपी विभिन्‍न क्षेत्रों में किसान सम्‍मेलन आयोजित कर विपक्ष पर निशाना साध रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज