UP के उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा का निर्देश, लंबे समय से एक जगह टिके अफसरों का होगा तबादला

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभागीय बैठक में हिस्सा लेते हुए

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभागीय बैठक में हिस्सा लेते हुए

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Shrikant Sharma)ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभागीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए UPPCL के एमडी को मुख्यालय पर लंबे समय से टिके अधिकारियों के संबंध में स्थानांतरण नीति के तहत कार्रवाई कर मुख्यालय का वर्क कल्चर बदलने के निर्देश दिये हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2021, 7:21 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना (Corona Virus) संकट से जूझ रहे आम लोगों और किसानों को योगी सरकार (Yogi Government) ने बड़ी राहत दी है. सरकार ने बिजली बकाये (Electricity Bill Due) पर 100 प्रतिशत ब्याज माफी से जुड़ी एकमुश्त सामाधान योजना शुरू की है. जिसके चलते बीते एक मार्च से 31 मार्च तक चलने वाली इस एक मुश्त समाधान (OTS) योजना की शनिवार को ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Shrikant Sharma) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये समीक्षा की. इस दौरान उन्होंने OTS के तहत बिल संशोधन की कार्रवाई में ढिलाई पर नाराजगी जताते हुए उपभोक्ताओं की शिकायत पर तत्काल जांच कर उनके बिल को ठीक किए जाने का निर्देश दिया.

ऊर्जा मंत्री ने सभी पात्र उपभोक्ताओं को इस योजना का लाभ देने के भी निर्देश दिये. उन्होंने OTS योजना की प्रगति के आधार पर सभी अधिकारियों की परफार्मेंस तय किये जाने की बात कही. इस दौरान मंत्री श्रीकांत शर्मा ने विभाग में एक ही जगह पर लंबे समय से टिके अफसरों के भी तबादले के निर्देश दिये.

OTS के लक्ष्य से तय होगी अधिकारियो की परफार्मेंस

न्यूज़ 18 से बात करते हुए ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि योगी सरकार ने प्रदेश की करीब 1.92 करोड़ घरेलू उपभोक्ताओं और निजी नलकूप धारक किसानों को बड़ा लाभ देने के लिये 100 प्रतिशत ब्याज माफी से जुड़ी एकमुश्त सामाधान (OTS) योजना शुरू की है. एक मार्च से 31 मार्च तक चलने वाली इस एक मुश्त समाधान (OTS) योजना में दक्षिणांचल डिस्कॉम की कुल प्रगति 20.39%, मध्यांचल की 17.25%, पूर्वांचल की 15.75%, पश्चिमांचल की 35.29% और केस्को की सर्वाधिक 57.40% है. उन्होंने कहा कि OTS योजना समाप्त होने वाली है लेकिन अधिक से अधिक उपभोक्ताओं तक इस योजना का लाभ नहीं पहुंच सका है. इसलिये UPPCL के चेयरमैन को सभी डिस्कॉम की प्रगति की समीक्षा और जवाबदेही सुनिश्चित कर इस योजना की प्रगति के आधार पर एमडी और डायरेक्टर्स की परफार्मेस भी तय किये जाने के निर्देश दिये गये हैं.
होली पर निर्बाध बिजली आपूर्ति के निर्देश

ऊर्जा मंत्री ने समीक्षा बैठक में कहा कि हर एक उपभोक्ता को इस योजना का लाभ मिले और जाये और अधिकारी उपभोक्ताओं को ओटीएस में पंजीकरण के लिए प्रेरित करें. उपकेंद्र पर काम कर रहे हर एक कार्मिक को जिम्मेदारी दी जाए. इसमें किसी भी प्रकार की ढिलाई न हो. 1912 के माध्यम से भी उपभोक्ताओं को ओटीएस के लाभ बताएं और एक लाख से अधिक के बकायेदार उपभोक्ताओं के दरवाजे बिजली बिल जमा करने के लिये जरूर खटखटाये जाएं. श्रीकांत शर्मा ने होली के मौके पर निर्बाध बिजली आपूर्ति के भी आवश्यक तैयारियों को हर हाल में पूरा कर लिये जाने का निर्देश दिया.

लंबे समय से टिके अफसरों का होगा तबादला



अंत में ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने UPPCL के एमडी को मुख्यालय पर लंबे समय से टिके अधिकारियों के संबंध में स्थानांतरण नीति के तहत कार्रवाई कर न सिर्फ मुख्यालय का वर्क कल्चर बदलने के निर्देश दिये है. बल्कि हर एक अधिकारी की परफॉर्मेंस उसे दिए गए काम के आधार पर तय कर सभी अधिकारियों को जवाबदेह भी बनाये जाने का निर्देश दिया है. दरअसल, एक मुश्त समाधान योजना के तहत केस्को द्वारा बीते एक माह में जहां करीब 300 करोड़ रूपये की बकाया वसूली की गई है. तो वहीं पिछले वर्ष के सापेक्ष इस माह 77 करोड़ रूपये की अधिक वसूली हुई है. लेकिन ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा की लाख कोशिशों के बावजूद अन्य डिस्कॉम में OTS योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोगों तक नहीं पहुंचाया जा सका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज