Home /News /uttar-pradesh /

लखनऊ:-जो कभी खुद थी बेजुबान,आज बन रही है बेजुबानों का सहारा

लखनऊ:-जो कभी खुद थी बेजुबान,आज बन रही है बेजुबानों का सहारा

X

आज हम आपको बताएंगे लखनऊ की रहने वाली कैरोलाइन बोर्जेस की कहानी जिन्होंने ने बेसहारा 400 स्ट्रीट डॉग्स को बिल्कुल बच्चों की तरह देखभाल करती है.कैरोलाइन एक शिक्षिका है और सेंट फ्रांसिस स्कूल में पढ़ाती है. जो कभी खुद बेजुबान थी आज बन गयी है लखनऊ में बेजुबानों की आवाज क्यूंकि कैरोलाइन जन्म से बेजुबान थी.

अधिक पढ़ें ...

    आपने एनिमल लवर्स और डॉग लवर्स बहुत देखे होंगे लेकिन आज हम आपको बताएंगे लखनऊ की रहने वाली कैरोलाइन बोर्जेस की कहानी जिन्होंने ने बेसहारा 400 स्ट्रीट डॉग्स को बिल्कुल बच्चों की तरह देखभाल करती है.कैरोलाइन एक शिक्षिका है और सेंट फ्रांसिस स्कूल में पढ़ाती है. जो कभी खुद बेजुबान थी आज बन गयी है लखनऊ में बेजुबानों की आवाज क्यूंकि कैरोलाइन जन्म से बेजुबान थी.लोगों के तीन ऑपरेशन होने के बाद भी गारंटी नहीं होती की उनकी आवाज वापस आएगी लेकिन करोलाइन की आवाज एक ऑपरेशन के बाद वापस आ गयी थी.उनका कहना है कि शायद ‘मैंने इस दुनिया इसलिए जन्म लिया ताकि मैं इन बेजुबानों की आवाज बन सकू’.

    लोगों में जानवरों के प्रति प्यार फैलाना चाहती हैं स्पेशली फॉर डॉग्स. जिसके लिए वो बचपन से डॉग्स की सेवा कर रही है.
    उनको रोज खाना खिलाना साथ ही साथ अगर कोई जानवर चोटिल है तो उसका इलाज भी करना.कैरोलाइन रोज रात को स्ट्रीट डॉग्स को फीड कराने के लिए निकलती हैं और करीब 300 से 400 डॉग्स को वो डेली खाना खिलाती हैं. वह यह सब अपनी कमाई लगा कर करती है और अब एक मॉडल के तौर पर ब्रांड्स के साथ शूट भी करती है.

    कैरोलाइन का कहना हैं “ये डॉग्स नहीं मेरे बच्चे हैं और मै अपने बच्चों को बहुत प्यार करती हूँ और ये भी मुझे उतना ही प्यार करते हैं. सभी को एक अनोखा नाम दिया है और वे सब होने नाम अच्छे से जानते है. आप जब भी उन्हें प्यार करोगे बदले में आपको दोगुना प्यार ही मिलेगा “.
    लखनऊ से प्रियंका यादव की रिपोर्ट.

    Tags: Lucknow city, Lucknow news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर