Home /News /uttar-pradesh /

थोड़ी देर में जारी होगा समाजवादी पार्टी का घोषणा पत्र, मंच पर मुलायम-शिवपाल मौजूद नहीं

थोड़ी देर में जारी होगा समाजवादी पार्टी का घोषणा पत्र, मंच पर मुलायम-शिवपाल मौजूद नहीं

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव थोड़ी ही देर में लखनऊ में पार्टी का घोषणा पत्र जारी करने जा रहे हैं. दिलचस्प बात यह है कि समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव इस मंच पर मौजूद नहीं हैं.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव थोड़ी ही देर में लखनऊ में पार्टी का घोषणा पत्र जारी करने जा रहे हैं. दिलचस्प बात यह है कि समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव इस मंच पर मौजूद नहीं हैं.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव थोड़ी ही देर में लखनऊ में पार्टी का घोषणा पत्र जारी करने जा रहे हैं. दिलचस्प बात यह है कि समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव इस मंच पर मौजूद नहीं हैं.

अधिक पढ़ें ...
  • News18.com
  • Last Updated :
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव थोड़ी ही देर में लखनऊ में पार्टी का घोषणा पत्र जारी करने जा रहे हैं. दिलचस्प बात यह है कि समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव इस मंच पर मौजूद नहीं हैं.

बता दें कि पहले चरण (वोटिंग 11 फरवरी) के चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, लेकिन इस बार कई राजनीतिक पार्टियों ने अभी तक अपना घोषणापत्र जारी नहीं किया है.

ऐसे में चर्चा है कि समाजवादी पार्टी के इस घोषणापत्र में बिजली, मकान, मोबाइल और एक्सप्रेसवे से जनता को लुभाने का प्रयास हो सकता है. अखिलेश यादव ने गरीबों को स्मार्ट फोन बांटने की योजना को 'तुरुप का इक्का' करार दिया है. टीम अखिलेश ने इस योजना के माध्यम से उन युवाओं को लुभाने का प्रयास किया है, जो पहली बार वोटर बने हैं.

अखिलेश अपने घोषणापत्र में किसानों के लिए बड़ा एलान कर सकते हैं. किसानों के लिए अलग से बिजली व्यवस्था की मैनिफेस्टो में घोषणा की जा सकती है. ट्यूबवेल चलाने के लिए अखिलेश सरकार अलग से बिजली सप्लाई देगी.

अखिलेश यादव ने आचार संहिता से ठीक पहले प्रदेश की 17 अति पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने के लिए कैबिनेट से प्रस्ताव पास किया था. हालांकि, इन्हें अभी एससी का दर्जा मिलना बाकी है, लेकिन अपने घोषणापत्र में इन जातियों के लिए अखिलेश यादव बड़े पैकेज का एलान कर सकते हैं.

उनके घोषणापत्र पर इसलिए भी सबकी निगाहें हैं, क्योंकि उससे जाहिर होगा कि विकासवादी राजनीति की बात करने वाले अखिलेश यादव क्या सचमुच ऐसी ही राजनीति के लिए 'सीरियस' हैं?

अखिलेश ने दावा किया था कि शहरों में 24 घंटे, जबकि गांवों को 18 घंटे बिजली दी जा रही है. अब अखिलेश यादव अपने घोषणापत्र में गांवों को भी 24 घंटे बिजली देने का वादा शामिल कर सकते हैं.

मिड डे मील एक ऐसी योजना है, जिससे यूपी का हर गांव प्रभावित होता है. अखिलेश यादव के घोषणापत्र में ये वादा शामिल किया जा सकता है कि मथुरा और लखनऊ के बाद पूरे राज्य में अक्षयपात्र संस्था का बनाया मिड डे मील ही दिया जाएगा.

Tags: Akhilesh yadav, Samajwadi party

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर