लाइव टीवी

मकर संक्रांति पर काशी के इस रेस्टोरेंट में पतंगों के बीच परोसी जा रही कई तरह की खिचड़ी

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 15, 2020, 1:09 PM IST
मकर संक्रांति पर काशी के इस रेस्टोरेंट में पतंगों के बीच परोसी जा रही कई तरह की खिचड़ी
वाराणसी के रेस्टोरेंट में कई तरह की खिचड़ी परोसी जा रही है.

वाराणसी के इस रेस्टोरेंट में आज स्पेशल खिचड़ी भी बन रही है, जिसमें बाजरे की खिचड़ी है, मूंग की खिचड़ी है, उड़द की खिचड़ी है, घरों में बनने वाली आम खिचड़ी है. प्लेन खिचड़ी मसाला खिचड़ी के साथ अलग तरह के स्पेशल डिश मकर संक्रांति के खास मौके पर परोसी जा रही है.

  • Share this:
वाराणसी. आज मकर संक्रांति (Makar Sankranti) का त्योहार है. हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी खाने को शुभ माना जाता है. यही वजह है कि मकर संक्रांति के त्यौहार को खिचड़ी के नाम से भी जाना जाता है. भारतीय खाने की बात करें तो खिचड़ी ट्रेडिशनल रेसिपीज़ में से एक हैं, जिसे मूंग की दाल (छिलके वाली) और चावल मिलाकर बनाया जाता है. लिहाजा वाराणसी में बाटी-चोखा रेस्टोरेंट में मकर संक्रांति के मौके पर पूरी तरीके से पतंगों से सजा हुआ है. तरह-तरह पारंपरिक पतंगों का अनूठा मेल यहां देखने को मिल रहा है. साथ ही इस रेस्टोरेंट में आज स्पेशल खिचड़ी भी बन रही है, जिसमें बाजरे की खिचड़ी है, मूंग की खिचड़ी है, उड़द की खिचड़ी है, घरों में बनने वाली आम खिचड़ी है. प्लेन खिचड़ी मसाला खिचड़ी के साथ अलग तरह के स्पेशल डिश मकर संक्रांति के खास मौके पर परोसी जा रही है.

खिचड़ी के बाद उठाइए तिल के लड्डू का लुत्फ

रेस्टोरेंट में आज लोग बड़ी संख्या में आकर के इसका आनंद उठा रहे हैं. मकर संक्रांति के दिन तिल दान और तिल के लड्डू खाने का विशेष महत्व है लिहाजा बाटी चोखा रेस्टोरेंट में तिल का लड्डू विशेष तौर पर खाने के बाद स्वीट डिश के रूप में परोसा जा रहा है. आप भी अगर खिचड़ी के दिन अलग-अलग तरह की खिचड़ी खाने का शौक रखते हैं तो बनारस के तेलियाबाग स्थित बाटी चोखा रेस्टोरेंट में जरूर आएं.

VNS Khichdi2
पूरे रेस्टोरेंट को मकर संक्रांति को देखते हुए विशेष तौर पर सजा गया है.


ये है ज्योतिषीय मान्यता

दरअसल ज्योतिषीय मान्यता है कि चावल चंद्रमा का प्रतीक है और काली दाल शनि का प्रतीक. वहीं, हरी सब्जियां बुध से संबंध रखती हैं. कहा जाता है कि खिचड़ी की गर्मी व्यक्ति को मंगल और सूर्य से जोड़ती है. इस दिन खिचड़ी खाने से राशि में ग्रहों की स्थिती मजबूत होती है.

VNS Khichdi
रेस्टोरेंट में खिचड़ी जा रही परोसी
मकर संक्रांति का त्यौहार पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाया जाता है. सूर्य जब मकर राशि में प्रवेश करके उत्तरायण होता है तो उस दिन खासतौर पर किसान वर्ग यानी ग्रामीण भारत पूरा उत्सव में झूमता है. मान्यता है कि इस दिन तिल का दान करने और खिचड़ी खाने का विशेष महत्व होता है.

रिपोर्ट: अनुज सिंह

ये भी पढ़ें:

CM योगी ने गोरक्षनाथ पीठ में चढ़ाई खिचड़ी, दी मकर संक्रांति की बधाई

अखिलेश यादव ने दी मायावती को जन्मदिन की बधाई, डिंपल के बर्थ डे पर हवन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 1:09 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर