बकरीद पर मौलाना की अपील, प्रतिबंधि‍त जानवरों की न करें कुर्बानी

मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने मुसलमानों से कुर्बानी में एहतियात बरतने की अपील की है.
मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने मुसलमानों से कुर्बानी में एहतियात बरतने की अपील की है.

देशभर में 12 अगस्त को ईद-उल-अजहा (बकरीद) मनाई जाएगी. ईद-उल-अजहा के मौके पर कुर्बानी दी जाती है. लेकिन कुर्बानी को से पहले लखनऊ में मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने मुसलमानों से कुर्बानी में एहतियात बरतने की अपील की है.

  • Share this:
देशभर में 12 अगस्त को ईद-उल-अजहा (बकरीद) मनाई जाएगी. ईद-उल-अजहा के मौके पर कुर्बानी दी जाती है. लेकिन कुर्बानी को से पहले लखनऊ में मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने मुसलमानों से कुर्बानी में एहतियात बरतने की अपील की है.

मौलाना ने कहा, 'मुसलमान कुर्बानी के वक्त साफ सफाई का ध्यान दें. नालियों में जानवरों का खून न बहाएं. कुर्बानी की जगह पर ही कु्रबानी करें. सड़कों पर जानवरों की कुरबानी न करें और जिन जानवरों को प्रतिबंधित किया गया हैं उन जानवरों को कतई कुर्बान न किया जाए.' आगे उन्होंने कहा कि इस मौके की कोई भी फोटो न ही खींची जाएगी और न ही कोई फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की जाएगी.

सुरक्षा देने की मांग
इसके अलावा मौलाना खालिद ने डीजी उत्तर प्रदेश ओपी सिंह से भी मुलाकात की है. खालिद रशीद फरंगी महली ने कहा अक्सर दूर दराज से अपने जानवर किसान शहरों में बेचने आते हैं लेकिन कई बार कुछ अराजक तत्व उनको परेशान करते हैं और उनके साथ मॉब लिंचिंग भी हो जाती है. उन्होंने डीजीपी से किसानों को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए निवेदन किया है.
12 तारीख मनाई जाएगी बकरीद


दिल्ली में शुक्रवार को ईद उल अजहा के चांद के दीदार हो गए. बकरीद का त्यौहार 12 अगस्त को मनाया जाएगा. ईद उल जुहा या बकरीद, ईद उल फित्र के दो महीने नौ दिन बाद मनाई जाती है. फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मौलाना मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने बताया था कि दिल्ली और उत्तर प्रदेश के अलग अलग शहरों समेत देश के कई हिस्सों में चांद नजर आ गया है. लिहाजा बकरीद का त्यौहार 12 अगस्त, दिन सोमवार को मनाया जाएगा.

ये भी पढ़ें:

मेनका गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले सोनू सिंह भेजे गए जेल

कश्‍मीर से आर्टिकल 370 और 35A हटने से खुश हुए धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद, सरकार से की ये खास मांग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज