लाइव टीवी

अयोध्या फैसले से पहले मस्जिदों से मौलाना करेंगे भाईचारे की अपील: फिरंगी महली

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 1, 2019, 11:55 AM IST
अयोध्या फैसले से पहले मस्जिदों से मौलाना करेंगे भाईचारे की अपील: फिरंगी महली
मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली का कहना है कि अयोध्या फैसले से पहले मस्जिदों से आपसी सौहार्द बनाए रखने की अपील की जाएगी.

AIMPLB के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली का कहना है कि अयोध्या मसले के फैसले से पहले जुमे की नमाज में मस्जिदों में आपसी भाईचारा बनाए रखने की अपील की जाएगी. उन्होंने कहा कि मौलाना अपील करेंगे कि कोर्ट से चाहे जो भी फैसला आए समाज में अमन-चैन बनी रहे.

  • Share this:
लखनऊ. अयोध्या (Ayodhya) में राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद (Land Dispute) को लेकर पूरे देश की निगाहें सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) पर टिकी हैं. मामले में संविधान पीठ के समक्ष (सामने) सुनवाई पूरी हो चुकी है और अब सभी को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार है. उधर फैसले को लेकर सरकार से लेकर तमाम संगठन इसकी तैयारियों से जुटे हुए हैं. योगी सरकार लगातार प्रदेश के हर जिले में फैसले के बाद किसी भी अप्रिय घटना से निपटने की तैयारी में लगी है, वहीं इसी क्रम में अब मुस्लिम धर्मगुरू और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली (Maulana Khalid Rashid Farangi Meheli) का बयान सामने आया है.

जुमे की नमाज में होगी अपील

मौलाना खालिद रशीद का कहना है कि अयोध्या मसले के फैसले से पहले जुमे की नमाज में मस्जिदों में आपसी भाईचारा बनाए रखने की अपील की जाएगी. उन्होंने कहा कि मौलाना अपील करेंगे कि कोर्ट से चाहे जो भी फैसला आए समाज में अमन-चैन बनी रहे. उन्होंने कहा कि किसी भी शख्स को घबराने की जरूरत नहीं है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सबको भरोसा होना चाहिए. किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की कोई बात न करे.

मथुरा में भी हाई अलर्ट

उधर अयोध्या मुद्दे (Ayodhya Case) पर आने वाले फैसले को लेकर मथुरा पुलिस (Mathura police) भी अलर्ट मोड पर है. प्रदेश सरकार ने पहले ही एहतियातन सभी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की 30 नवंबर तक की छुट्टियां रद्द कर दी हैं. पुलिस और प्रशासन इस संवेदनशील मुद्दे पर किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति को टालने के लिए चाक-चौबंद है.

DM और SSP ने की अपील
जिलाधिकारी (डीएम), वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) और जनपद के सभी अधीनस्थ अधिकारी एक रणनीति के तहत आने वाले फैसले के बाद शहर की गंगा-जमुनी तहजीब को बनाए रखने के प्रयास में जुटे हुए हैं. फैसले के साथ ही शांति-व्यवस्था को बनाए रखने की चुनौती को सफलतापूर्वक अंजाम देने के लिए डीएम सर्वज्ञ राम मिश्र और एसएसपी शलभ माथुर ने हिंदू-मुस्लिम पक्ष के प्रबुद्धजनों, साधु-संतों के साथ बैठक कर शांति सौहार्द बनाए रखने की अपील करते हुए न्यायालय के निर्णय का सम्मान करने और अपने अनुयायियों से भी इसे अनुसरण करने का निर्देश दिए जाने की गुजारिश की.
Loading...

(इनपुट: माेहम्मद शबाब)

ये भी पढ़ें:

नाबालिग दलित लड़की से गैंगरेप, हत्या मामले की जांच को सपा की जांच कमेटी गठित

योगी सरकार का बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, लखनऊ, वाराणसी डीएम सहित 25 IAS ट्रांसफर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 11:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...