लाइव टीवी

बुर्के को लेकर मंत्री के बयान पर भड़के मौलाना, कहा- घटिया मानसिकता के लोग

Mohd Shabab | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 10, 2020, 1:05 PM IST
बुर्के को लेकर मंत्री के बयान पर भड़के मौलाना, कहा- घटिया मानसिकता के लोग
ईदगाह के प्रवक्ता औऱ धर्मगुरू मौलाना सुफियान निज़ामी

सुफीयान निजामी ने कहा कि इस तरह का बयान देना ऐसे लोगों के लिए कोई नई बात नही है. ऐसे लोग घटिया और छोटी मानसिकता रखते हैं.

  • Share this:
लखनऊ. मुस्लिम महिलाओं के बुर्के पर एक बार फिर विवाद खड़ा हो गया है. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के श्रम एवं सेवायोजन राज्यमंत्री रघुराज सिंह (Raghuraj Singh) ने बुर्के पर विवादित बयान देकर बवाल खड़ा कर दिया है. उन्होंने भारत में बुर्के को बैन करने की सरकार से मांग की है. उन्होंने कहा कि लक्ष्मण जी ने जब शूर्पणखा के कान और नाक काटे तो उन्होंने बुर्का पहना, जिससे उनका चेहरा ढका रहे. इसलिए मुस्लिम महिलाएं बुर्का पहनती हैं, क्योंकि वह दैत्यों की वंशज हैं.

धर्मगुरू मौलाना सुफियान निज़ामी ने कही ये बात

रघुराज सिंह यहीं नही रुके उन्होंने कहा कि बुर्के पर प्रतिबंध लगाना चाहिए, क्योंकि बुर्के के भेष में आतंकवादी हमारे देश में घुस जाते हैं. राज्यमंत्री के बयान के बाद विवाद तो होना ही था तो इसपर लखनऊ में ईदगाह के प्रवक्ता औऱ धर्मगुरू मौलाना सुफियान निज़ामी का जवाब आया. सुफीयान निजामी ने कहा कि इस तरह का बयान देना ऐसे लोगों के लिए कोई नई बात नही है. ऐसे लोग घटिया और छोटी मानसिकता रखते हैं. ये लोग अपनी ओछी सियासत के लिए ऐसे बयान देते हैं. ताकि चर्चा में बने रहें. ऐसे घटिया मानसिकता के लोग कभी लिबास पर तो कभी मज़हब पर बेतुकी बातें करते रहतें हैं.

शाहीनबाग़ में बुर्के को बदनाम करने की कोशिश

उन्होंने कहा कि बुर्का इस्लाम मज़हब में एक पर्दे का लिबास है. और बुर्का पहनने पर इस्लामी औरतें फक्र महसूस करती हैं. सुफीयान ने कहा कि बुर्के को बदनाम करके ऐसे लोग अपने संघटन की औरतों को बुर्का पहना कर घटिया काम कराते हैं. शाहीनबाग़ में ऐसे ही लोगों ने अपने लोगों को बुर्का पहना कर भेजा था. वहां बुर्के को बदनाम करने की कोशिश की थी.

ये भी पढ़ें:योगी के मंत्री बोले- मुस्लिम औरतें बुर्का पहनती हैं, क्योंकि वे शूपर्णखा की वंशज हैं

रामपुर: तीन तलाक के बाद पत्नी पर मिट्टी का तेल छिड़ककर जिंदा जलाया, हालत गंभीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 1:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर