होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /मायावती का ऐलान-सम्मानजनक हिस्सेदारी मिलने पर ही गठबंधन करेगी बसपा

मायावती का ऐलान-सम्मानजनक हिस्सेदारी मिलने पर ही गठबंधन करेगी बसपा

बसपा सुप्रीमो मायावती (फाइल फोटो)

बसपा सुप्रीमो मायावती (फाइल फोटो)

मायावती ने कहा कि हाल के दिनों में महागठबंधन को लेकर जिस तरह की चर्चाएं हो रही हैं, उन्हें स्पष्ट करने की जरूरत है. खास ...अधिक पढ़ें

    कांग्रेस नेतृत्व को मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनाव में गठबंधन को लेकर बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की अध्यक्ष मायावती ने साफ संदेश देते हुए कहा है कि उचित और सम्मानजनक हिस्सेदारी मिलने पर ही वो गठबंधन करेंगी. मंगलवार को दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मायावती ने कहा कि वो गठबंधन का हिस्सा तभी बनेंगी, जब उनकी पार्टी को सम्मानजक भागीदारी दी जाएगी. मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनावों में बसपा के साथ गठबंधन को लेकर कांग्रेस नेताओं की बयानबाजियों पर मायावती ने कहा कि वे इसे बंद करें. यह नियम उन पर भी लागू होता है.

    मायावती ने कहा कि हाल के दिनों में महागठबंधन को लेकर जिस तरह की चर्चाएं हो रही हैं, उन्‍हें स्पष्ट करने की जरूरत है. खास तौर पर जो कांग्रेस नेता मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बीएसपी के साथ गठबंधन को लेकर बयान दे रहे हैं, वो इसे बंद करें.

    मायावती ने इस बात के भी संकेत दिए कि बीएसपी इस साल के अंत में होने वाले राजस्‍थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ चुनाव में अकेले दम पर सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की पूरी तैयारी कर रही है.
    यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री ने देश में मॉब लिन्चिंग की बढ़ती घटनाओं के लिए सीधे तौर पर बीजेपी और उनके कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने अलवर घटना की निंदा करते हुए कहा कि बीजेपी सरकार इसपर कोई कार्रवाई नहीं करेगी. मायावती ने कोर्ट से इस मामले में हस्तक्षेप की मांग की.

    बीएसपी सुप्रीमो ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीजेपी पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि बीजेपी के अतिवादिता की वजह से देश की धार्मिक आजादी खतरे में पड़ गई है और बेगुनाह लोग मारे जा रहे हैं.

    दरअसल मायावती की सम्मानजनक हिस्सेदारी की बात कहना यह दर्शाता है कि वो अपने तेवर से विपक्षी पार्टियों को यह संकेत देना चाहती हैं कि वो मोदी विरोध में साथ आने के लिए तैयार हैं, लेकिन अपने सम्मान से किसी भी हालत में समझौता नहीं करेंगी. गौरतलब है कि 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में सम्मानजनक सीटों के बंटवारे को लेकर ही वे महागठबंधन का हिस्सा नहीं बनी थीं. मायावती का कहना था कि गठबंधन तभी सफल होता है, जब सीटों का बंटवारा उचित हो. यही बात उन्होंने गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान भी कही थी.

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: BSP, Congress, Mayawati, लखनऊ

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें