Assembly Banner 2021

स्टैच्यू आॅफ यूनिटी पर बोलीं मायावती- बहुजन समाज से माफी मांगें बीजेपी और आरएसएस

मायावती (File Photo)

मायावती (File Photo)

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि पटेल विशुद्ध रूप से भारतीय संस्कृति व सभ्यता के पोषक थे लेकिन उनकी प्रतिमा पर विदेशी निर्माण की छाप उनके समर्थकों को हमेशा सताती रहेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2018, 2:13 PM IST
  • Share this:
बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने बुधवार को सरकार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए. इसके साथ ही मायावती ने गुजरात में स्टैच्यू आॅफ यूनिटी की पटेल प्रतिमा को लेकर बीजेपी और आरएसएस पर हमला किया. उन्होंने कहा कि लगभग 3000 करोड़ की लागत से बनी मूर्ति का अनावरण करने के बाद बीजेपी और आरएसएस एंड कंपनी को बहुजन समाज के लोगों से माफी मांगनी चाहिए. जिनके महापुरुषों के सम्मान में यूपी की बसपा सरकार द्वरा लखनऊ व नोएडा में भव्य स्थलों, स्मारकों और पार्कों का निर्माण कराया था. जिसे ये ही लोग फिजूलखर्ची बताकर इसकी जबरदस्त आलोचना करते थे.

मायावती ने कहा कि सरदार पटेल बोल-चाल, रहन-सहन में पूरी तरह से भारतीय संस्कृति की मिसाल थे. लेकिन भव्य प्रतिमा का नामकरण हिंदी या भारतीय संस्कृति के नजदीक होने की बजाए स्टैच्यू आॅफ यूनिटी रखा गया. ये अंग्रेजी नाम रखना कितनी राजनीति है और कितनी श्रद्धा है, यह देश की जनता अच्छी तरह से समझ रही है.

मायावती ने कहा कि पटेल विशुद्ध रूप से भारतीय संस्कृति व सभ्यता के पोषक थे लेकिन उनकी प्रतिमा पर विदेशी निर्माण की छाप उनके समर्थकों को हमेशा सताती रहेगी. उन्होंने कहा कि वल्लभ भाई पटेल डॉ भीमराव आंबेडकर की तरह एक राष्ट्रीय व्यक्ति थे. उनका सम्मान भी था लेकिन बीजेपी व केंद्र सरकार ने उन्हें क्षेत्रवाद की संकीर्णता में बांध दिया है.



ये भी पढ़ें: 
जानिए अखिलेश ने क्यों कहा- सीएम योगी कमाल के हैं, जो बोलते हैं, अच्छा बोलते हैं

खून का काला कारोबार: सामने आया एक बुजुर्ग, कहा- मिलावटी खून चढ़ाने से हुई बेटे की मौत

हाशिमपुरा नरसंहार में 16 पीएसी जवानों को उम्रकैद, 42 लोगों की हुई थी हत्या

मुआवजे के लिए हाशिमपुरा कांड के पीड़ितों में दरार

कौशाम्बी: घर में घुसा तेज रफ्तार डंपर, 4 की मौत, दो की हालत गंभीर

लखनऊ में #MeToo की पहली FIR, FSSAI के पूर्व निदेशक प्रवर्तन पर लगा आरोप

शहर-शहर हवा में जहर: वायु प्रदूषण में रेड जोन के 15 शहरों में 11 उत्तर प्रदेश के
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज