• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • योगी मंत्रिमंडल विस्तार पर मायावती बोलीं- बेहतर होता कि नेता इसे स्वीकार नहीं करते

योगी मंत्रिमंडल विस्तार पर मायावती बोलीं- बेहतर होता कि नेता इसे स्वीकार नहीं करते

Yogi Cabinet Expansion: बसपा सुप्रीमाे मायावती ने बीजेपी सरकार पर साधा निशाना (File Photo)

Yogi Cabinet Expansion: बसपा सुप्रीमाे मायावती ने बीजेपी सरकार पर साधा निशाना (File Photo)

UP News: बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट किया है कि बीजेपी ने जातिगत आधार पर जिन्हें मंत्री बनाया है. जब तक वे अपने-अपने मंत्रालय को समझकर कुछ करना भी चाहेंगे, तब तक यहां चुनाव आचार संहिता लागू हो जायेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के कैबिनेट विस्तार (Yogi Cabinet Expansion) पर बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती (BSP Supremo Mayawati) ने प्रतिक्रिया दी है. मायावती ने ट्वीट कर कहा कि बीजेपी ने जातिगत आधार पर वोटों को साधने के लिए जिन्हें मंत्री बनाया, बेहतर होता कि वे खुद इसे स्वीकार नहीं करते. क्योंकि जब तक ये मंत्री अपने मंत्रालय में कुछ करना भी चाहेंगे प्रदेश में चुनाव आचार संहिता लागू हो जायेगी. वहीं मायावती ने गन्ना समर्थन मूल्य में इजाफे पर भी योगी सरकार को घेरा.

    बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट किया, “यूपी भाजपा सरकार पूरे साढ़े चार वर्षों तक यहां के किसानों की घोर अनदेखी करती रही व गन्ना का समर्थन मूल्य नहीं बढ़ाया जिस उपेक्षा की ओर 7 सितम्बर को प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में मेरे द्वारा इंगित करने पर अब चुनाव से पहले इनको गन्ना किसान की याद आई है जो इनके स्वार्थ को दर्शाता है.

    उन्होंने आगे लिखा, “केन्द्र व यूपी सरकार की किसान-विरोधी नीतियों से पूरा किसान समाज काफी दुःखी व त्रस्त है, लेकिन अब चुनाव से पहले अपनी फेस सेविंग के लिए गन्ना का समर्थन मूल्य थोड़ा बढ़ाना खेती-किसानी की मूल समस्या का सही समाधान नहीं. ऐसे में किसान इनके किसी भी बहकावे में आने वाला नहीं है.”

    बसपा सुप्रीमो का ट्वीट

    mayawati tweet, BSP News,

    Yogi Cabinet Expansion: बसपा सुप्रीमाे मायावती का ट्वीट

    इससे पहले मायावती ने लिखा, “बीजेपी ने कल यूपी में जातिगत आधार पर वोटों को साधने के लिए जिनको भी मंत्री बनाया है, बेहतर होता कि वे लोग इसे स्वीकार नहीं करते क्योंकि जब तक वे अपने-अपने मंत्रालय को समझकर कुछ करना भी चाहेंगे तब तक यहां चुनाव आचार संहिता लागू हो जायेगी.”

    उन्होंने कहा कि जबकि इनके समाज के विकास व उत्थान के लिए अभी तक वर्तमान भाजपा सरकार ने कोई भी ठोस कदम नहीं उठाये हैं बल्कि इनके हितों में बीएसपी की रही सरकार ने जो भी कार्य शुरू किये थे, उन्हें भी अधिकांश बन्द कर दिया गया है. इनके इस दोहरे चाल-चरित्र से इन वर्गों  सावधान रहने की सलाह है.

    बता दें रविवार को योगी मंत्रिमंडल विस्तार में 7 नए चेहरों को जगह दी गई है. इनमें जितिन प्रसाद को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है, वहीं बाकी 6 नेताओं को राज्यमंत्री बनाया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज