होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /मायावती का BJP पर हमला, सत्ता के लालचियों को जीतने नहीं देंगे

मायावती का BJP पर हमला, सत्ता के लालचियों को जीतने नहीं देंगे

मायावती (फाइल फोटो)

मायावती (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि सत्ता के लालचियों को जीतने नहीं देंगे. विपक्ष क ...अधिक पढ़ें

    उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती ने ओडिशा की एक सभा में मंगलवार को कहा कि सत्ता के लालचियों को जीतने नहीं देंगे. विपक्ष का मुंह बंद रखने की कोशिश की जा रही है.

    ओडिशा में लोकसभा के साथ ही राज्य की विधान सभा के लिए भी आम चुनाव हो रहे हैं. बसपा वहां किसी से गठबंधन किए बिना अकेले ही चुनाव मैदान में उतरी है.

    मायावती ने मंगलार को ट्वीट कर बीजेपी पर निशाना साधा है. उन्होंने लिखा है कि, "बीजेपी की कथनी व करनी, आमजनता की सोच, समझ व मांग से कतई भिन्न होने का ही परिणाम है कि पीएम श्री मोदी 5 वर्षों का लेखा-जोखा देने का वादा निभाने के बजाए केवल बंदूक-तोप, गोली-गोला, चीन-पाकिस्तान आदि करके अपनी जवाबदेही से भागने का प्रयास कर रहे हैं. अतः नो मोर मोदी सरकार का शोर है.




    इससे पहले बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को हाथी की प्रतिमाओं पर पैसा खर्च करने के मामले में अपना हलफनामा सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया. बीएसपी सुप्रीमो ने शहरों में अपने द्वारा बनाई गई मूर्तियों की स्थापना को सही ठहराया और कहा कि मूर्तियां लोगों की इच्छा का प्रतिनिधित्व करती हैं. मायावती ने कहा कि राज्य की विधानसभा की इच्छा का उल्लंघन कैसे करूं? इन प्रतिमाओं के माध्यम से विधानमंडल ने दलित नेता के प्रति आदर व्यक्त किया है. मुख्यमंत्री के पद पर रहते हुए उनकी तरफ से इन मूर्तियों के लिए बजट का उचित आवंटन किया गया था.

    मायावती ने इसके साथ ही कहा कि यह पैसा शिक्षा पर खर्च किया जाना चाहिए या अस्पताल पर यह एक बहस का सवाल है और इसे अदालत द्वारा तय नहीं किया जा सकता है. लोगों को प्रेरणा दिलाने के लिए स्मारक बनाए गए थे. इन स्मारकों में हाथियों की मूर्तियां केवल वास्तुशिल्प की बनावट मात्र हैं और ये बीएसपी के पार्टी प्रतीक का प्रतिनिधित्व नहीं करती है.

    इसके साथ ही हलफनामे में मायावती ने कहा, "दलित नेताओं द्वारा बनाई गई मूर्तियों पर ही सवाल क्यों? वहीं बीजेपी और कांग्रेस जैसी पार्टियों द्वारा जनता के पैसे इस्तेमाल करने पर सवाल क्यों नहीं?" मायावती ने इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, सरदार पटेल, शिवाजी, एनटी राम राव और जयललिता आदि की मूर्तियों का भी हवाला दिया. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को सुनवाई कर सकता है.



    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: BSP, Lok Sabha Election 2019, Lok sabha elections 2019, Mayawati, Politics, Uttar Pradesh Lok Sabha Elections 2019, Uttar Pradesh Politics

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें