योगी सरकार का दावा, 1649 श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों से 26 लाख से अधिक प्रवासी मजदूरों की हुई घर वापसी
Lucknow News in Hindi

योगी सरकार का दावा, 1649 श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनों से 26 लाख से अधिक प्रवासी मजदूरों की हुई घर वापसी
मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए रेलवे ने श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई है.

उत्‍तर प्रदेश में अब तक 1649 श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनें (Shramik Special Trains) आ चुकी हैं, जिससे 26 लाख 254 प्रवासी श्रमिकों और कामगारों की वापसी हुई है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Government) ने दावा किया है कि अब तक 1649 श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनें (Shramik Special Trains) प्रदेश में आ चुकी हैं, जिससे 26 लाख 254 प्रवासी श्रमिकों और कामगारों की वापसी हुई है. यह जानकारी उत्‍तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने दी.

आपको बता दें कि कोरोना वायरस की महामारी की वह से देशभर में लॉकडाउन लगने की वजह से प्रवासी मजदूरों को काफी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ा. जबकि यूपी सरकार ने अपने प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए भारतीय रेलवे से श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनें चलाने की अपील की थी और फिर देश के विभिन्‍न प्रदेशों में फंसे मजदूरों की वापसी तय हुई थी. यह सिलसिला अभी तक जारी है.

गुजरात से आयी सबसे अधिक 548 ट्रेनें
यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि हम गुजरात से 548, महाराष्ट्र से 432, पंजाब से 235 और दिल्ली से 103 ट्रेनें ले चुके हैं. इन प्रदेशों से सबसे ज्यादा संख्या में श्रमिक वापिस आए हैं.
भट्ठा श्रमिकों के लिए यूपी सरकार कर रही है ये काम


अवनीश अवस्थी के मुताबिक उत्‍तर प्रदेश से अब तक कुल 14 ट्रेनें भट्ठा श्रमिकों के लिए अन्य प्रदेशों में भेजी जा चुकी हैं. जबकि आज 9 ट्रेनों से भट्ठा श्रमिकों को झारखंड, ओडिशा और छत्तीसगढ़ भेजा जा रहा है.

यूपी में अब तक 65735 एफआईआर
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि धारा 188 के अंतर्गत अभी तक कुल 65735 एफआईआर दर्ज की गई हैं. कुल 55542 वाहन सीज़ किए गए और अब तक 29 करोड़ 9लाख रुपये का चालान कर दिया गया. यही नहीं फेक न्यूज पर 1468 मामलों को संज्ञान में लेकर कार्रवाई की गई.

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कही ये बात
टीम-11 की बैठक में सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने बहुत स्पष्ट कहा है कि जहां लॉकडाउन का पालन लोगों ने किया वहां अनलॉक का मतलब भी अनुशासन है. अनलॉक भी इस शर्त पर है कि सब सोशल डिस्‍टेंसिंग, मास्क पहनना, कोई व्यक्ति कहीं थूकेगा नहीं इत्यादि. जबकि सभी जनपदों के जिला अधिकारी और पुलिस को निर्देश दिया गया है कि जहां भी लोग बिना मास्क, सोशल डिस्‍टेंसिंग आदि का पालन नहीं करेंगे तो इस पर किसी भी तरह की सहनशीलता नहीं की जाएगी.

ये भी पढ़ें

PM मोदी से पहले CM योगी जाएंगे अयोध्या, भूमिपूजन की तैयारियों का लेंगे जायजा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज