UP Panchayat Election: बीजेपी के 4000 से ज्यादा कार्यकर्ता नहीं लड़ पाएंगे पंचायत चुनाव, जानिए क्यों?

(सांकेतिक तस्वीर)

(सांकेतिक तस्वीर)

UP Panchayat Election: भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने गांव व पंचायतों के सशक्तीकरण के संकल्प के साथ त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारियों को लेकर जिलेवार बैठकें प्रारम्भ कर दी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 4:03 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election 2021) को लेकर जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं. एक तरफ परिसीमन का कार्य तेजी से चल रहा है तो दूसरी तरफ आरक्षण की व्यवस्था को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है. वहीं राजनीतिक दल भी इस बार चुनाव में पूरी ताकत झोंके हुए हैं. भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने गांव व पंचायतों के सशक्तीकरण के संकल्प के साथ त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारियों को लेकर जिलेवार बैठकें प्रारम्भ कर दी हैं. पार्टी का मानना है कि गांव, गरीब व किसान के विकास की प्रतिबद्धता के साथ आत्मनिर्भर गांव, गरीब व किसान से आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार करने के लिए योग्य व कुशल प्रत्याशियों को लेकर पंचायत चुनाव में जाएगी.

इस बीच पार्टी के करीब 4000 से ज्यादा कार्यकर्ताओं के लिए मायूसी भरी खबर है. ये वो कार्यकर्ता हैं, जिनको बीजेपी संगठन की तरफ से चुनाव में जिम्मेदारियां दी गई हैं. दरअसल संगठन से साफ कर दिया है कि चुनाव लड़ाने वाली टोलियों में शामिल कार्यकर्ता खुद चुनाव नहीं लड़ सकते. इनके अलावा बाकी कार्यकर्ता चुनाव में हाथ आजमा सकते हैं. यही नहीं बीजेपी संगठन की तरफ से प्रदेश से लेकर वार्ड स्तर तक कई समितियों में नामित सदस्यों के परिवार वाले भी चुनाव में नहीं उतर सकेंगे.

ताकि निर्वाचन प्रक्रिया में कोई बाधा न पड़े: विजय बहादुर पाठक

इस संबंध में बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष और पंचायत चुनाव के प्रभारी विजय बहादुर पाठक कहते हैं कि पार्टी गांव, गरीब व किसान के विकास की प्रतिबद्धता के साथ आत्मनिर्भर गांव, गरीब व किसान से आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार करने के लिए योग्य व कुशल प्रत्याशियों को लेकर पंचायत चुनाव में जाएगी. लेकिन ऐसे कार्यकर्ता जो चुनाव लड़ाने वाली टोली में शामिल हैं और उन्हें संगठन की तरफ से पहले ही महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है, उन्हें चुनाव लड़ने से रोका गया है. ऐसा सिर्फ इसलिए है ताकि निर्वाचन प्रक्रिया में कोई बाधा न पड़े.
विजय संकल्प के साथ नेता मैदान में

बता दें विजय का संकल्प लेकर तैयार की गई रणनीति के साथ भाजपा के वरिष्ठ नेता जिलावार बैठकों के माध्यम से कार्यकर्ताओं के साथ संवाद कर रहे है. संवाद के इस क्रम में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह आज सिद्धार्थनगर जिले के पार्टी पदाधिकारियों तथा वरिष्ठ नेताओं के साथ पंचायत चुनाव की रणनीति पर चर्चा करेंगे, वहीं पार्टी के प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने गुरुवार को कानपुर देहात व कानपुर नगर के पार्टी पदाधिकारियों, वरिष्ठ नेताओं व कार्यकर्ताओं के साथ पंचायत चुनाव की व्यूह रचना का खाका खींचा.

इसी तरह प्रदेश महामंत्री अमर पाल मौर्य ने लखनऊ तथा अवध क्षेत्र अध्यक्ष शेष नारायण मिश्र ने बहराइच, प्रदेश सह-महामंत्री (संगठन) भवानी सिंह व क्षेत्र अध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह ने संतकबीर नगर जिले की बैठक में पंचायत चुनाव पर चर्चा की. (इनपुट: कुमारी रंजना)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज