MSME: केंद्र से आर्थिक पैकेज के 24 घंटे के अंदर CM योगी ने 56,754 उद्यमियों को दिया 2002 करोड़ का लोन

यूपी के उद्यमियों को लोन बांटते सीएम योगी आदित्यनाथ
यूपी के उद्यमियों को लोन बांटते सीएम योगी आदित्यनाथ

योगी सरकार (Yogi Government) की तरफ से एमएसएमई सेक्टर को मजबूत करने की तैयारी पहले ही कर ली गई थी. इसके साथ ही यूपी केंद्र से आर्थिक पैकेज एलान के तत्काल बाद लॉकडाउन अवधि में भी इतनी बड़ी धनराशि का लोन देने वाला पहला राज्य बन गया है.

  • Share this:
लखनऊ. केंद्र सरकार द्वारा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (MSME) के लिए आर्थिक पैकेज के 24 घंटे के अंदर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी में MSME सेक्टर के 56 हजार 754 उधमियों को एकमुश्त 2002 करोड़ के लोन बांटे हैं. सीएम ने इससे दो से ढाई लाख लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद जताई है. दरअसल योगी सरकार की तरफ से एमएसएमई सेक्टर को मजबूत करने की तैयारी पहले ही कर ली गई थी. इसके साथ ही यूपी केंद्र से आर्थिक पैकेज एलान के तत्काल बाद लॉकडाउन अवधि में भी इतनी बड़ी धनराशि का लोन देने वाला पहला राज्य बन गया है.

गुरुवार को एक क्लिक पर सीएम योगी ने ऑनलाइन 2002 करोड़ का लोन जारी किए. इस दौरान कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह मौजूद रहे. इसके साथ ही सीएम ने रोजगार संगम आनलाइन मेला की शुरूआत भी की. इस पूरी प्रक्रिया में सरकार ने एक टेबल पर उद्यमियों और बैंकर्स को बैठाकर ये लोन जरी किया. इन 56 हजार 754 इकाईयों से 2 लाख लोगों को रोजगार की गारंटी मिली है. इस दौरान सीएम ने एमएसएमई का साथी पोर्टल भी लांच किया.

कामगारों, श्रमिकों को यूपी की ताकत बनाएंगे



सीएम योगी ने कहा कि हम कामगारों व श्रमिकों को यूपी की ताकत बनाएंगे. ये हमारे लिए पलायन का कलंक हटाने का भी बड़ा अवसर है, इसलिए हम कामगारों व श्रमिकों की घर वापसी सुनिश्चित कराने के साथ ही उनकी स्किलिंग की स्केलिंग भी कर रहे हैं.



अब दीपावली पर चीन से गौरी-गणेश न आएं: सीएम

सीएम ने कहा कि हमारी कोशिश है अब दीपावली में चीन से गौरी गणेश की मूर्तियां न आएं. गोरखपुर के टेराकोटा में चीन से बेहतर मूर्तियां बनाने का हुनर है. देश का सबसे बड़ा MSME सेक्टर यूपी में है. उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान ही यूपी में पीपीई किट की 26 यूनिटें खड़ी हुई हैं. यूपी में छोटी बड़ी मिलाकर 90 लाख एमएसएमई इकाईयां हैं. हर इकाई में कम से कम एक नया रोजगार सृजित करने की हमारी कोशिश है. एक जिला एक उत्पाद पर विशेष फोकस है, इस मुहिम से जुड़ने वाले उद्यमियों को प्रोत्साहन देने की कोशिश की जा रही है.

UP आइए, उद्योग लगाइए

इसके साथ ही सीएम योगी ने महाअभियान भी शुरू किया है. इसके तहत UP आइए, उद्योग लगाइए और 1000 दिनों की समयावधि के भीतर आखिरी सौ दिनों में आवेदन कर तय NOC पाइए का मंत्र दिया गया है. इसमें पर्यावरण नियमों को छोड़ बाकी नियमों का सरलीकरण किया गया है. उद्यमियो के लिए सिंगल विंडो सिस्टम के जरिए हर हाथ को रोजगार देने का ये महाअभियान है.

ये भी पढ़ें:

69000 शिक्षक भर्ती: सफल अभ्यर्थियों में शुरू नई जंग, ऐसे तय होगा गुणांक

MSME को राहत पैकेज: यूपी की 90 लाख इकाइयों पर क्या पड़ेगा असर, पढ़िए इंटरव्यू
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज