अपना शहर चुनें

States

अखिलेश पर 'मुलायम वार'- नाम दिया संरक्षक, काम क्या करना है लिखा ही नहीं

कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान मुलायम का दर्द छलक गया. उन्होंने कहा टिकट बांटने में देरी कर रहे हैं लोग. मुझे नाम दिया गया है संरक्षक और क्या काम करना है लिखा ही नहीं.

  • Share this:
समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने गुरुवार को पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अपना दर्द बयां किया. उन्होमे कहा मुझे नाम दिया गया है संरक्षक और क्या काम करना है लिखा ही नहीं. इस दौरान मुलायम ने बेटे अखिलेश यादव द्वारा बसपा से गठबंधन के फैसले पर भी उंगली उठाई.

कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान मुलायम का दर्द छलक गया. उन्होंने कहा, " टिकट बांटने में देरी कर रहे हैं लोग. मुझे नाम दिया गया है संरक्षक और क्या काम करना है लिखा ही नहीं. जो लोग लड़ना चाहते हैं वह लिखकर दें, मैं तुरंत टिकट दूंगा." मुलायम सिंह ने कहा कि फिलहाल लग रहा है कि बीजेपी लोकसभा चुनावों में आगे चल रही है. सपा अभी पीछे है.

इस दौरान उन्होंने सपा और बसपा गठबंधन पर भी निशाना साधा. उन्होंने इशारों ही इशारों में गठबंधन को सही करार नहीं दिया. मुलायम ने कहा, " आज आपकी लड़ाई बीजेपी से है. उन्होंने बसपा से समझौता कर लिया. 80 में से सिर्फ 40 पर चुनाव लड़ेंगे. मुलायम बात करते तो ठीक है. लड़का बात कर रहा है. पार्टी को खत्म कौन कर रहा है. अपने ही लोग पार्टी को खत्म कर रहे हैं. तीन बार बहुमत से सरकार बनाई. रक्षा मंत्री भी रहा."



मुलायम ने कहा, "आप सारा काम छोड़कर निशाना बना लो कि समाजवादी पार्टी बहुमत में कैसे आये.
जब मैं रक्षा मंत्री था तो 42 सीटें जीता था. मीडिया को सम्मान देना पड़ेगा मीडिया का भी बड़ा रोल है. हम बोलेंगे तो छापेगा कौन. मीडिया की उपेक्षा हमारे पार्टी के लोग बहुत करते हैं. मीडिया आ जाए तो अच्छा है. हमारा प्रचार होगा. आपसे मैं कहना चाहता हूं चुनाव के दिन बहुत नहीं है कैसी तैयारी है अभी तक हमें कुछ लोगों ने नाम दिए हैं रामगोपाल को भी नाम दे रहे हैं. शिवपाल को भी दे रहे हैं और अखिलेश को भी दे रहे हैं. शिवपाल ने तो अलग पार्टी बना ली है तो हमें दीजिए राम गोपाल को दीजिए हम दोनों मिलकर तय करेंगे कि कौन लड़ेगा और कौन जीतेगा. आप लोग नाम नहीं दे रहे हैं."

इस दौरान मुलायम ने कहा कि जब किसी ने मुझे नाम नहीं दिया है तो टिकट भी ऐसे ही मिलेगा. उन्होंने कहा भले ही टिकट अखिलेश देंगे, लेकिन यह हमारे हाथ में है. किसे देना है और हटाना हमारे हाथ में है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

ये भी पढ़ें: 

लोकसभा चुनाव: यूपी में आते ही अपनी धमक का एहसास कराने लगे हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया

आतंकियों के इशारे पर काम कर रहे हैं कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल: राम विलास वेदांती
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज