Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Corona को मात देने के बाद हॉस्पिटल से डिस्‍चार्ज हुए मुलायम सिंह यादव, बेटे अखिलेश ने कही ये बात

    मुलायम सिंह यादव की 14 अक्‍टूबर को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी.
    मुलायम सिंह यादव की 14 अक्‍टूबर को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी.

    समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होकर घर पहुंच गए हैं. कुछ दिन पहले उन्‍हें कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव (Corona Positive) आने के बाद हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 25, 2020, 11:36 PM IST
    • Share this:
    लखनऊ. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) कोरोना की बीमारी को मात देकर ठीक हो गए हैं. रविवार को गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल से उन्‍हें डिस्चार्ज कर दिया गया है. इस बात की जानकारी उनके बेटे और उत्‍तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने दी है. आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण (Covid-19 Positive) के चलते पिछले दिनों मुलायम सिंह यादव मेदांता में एडमिट हुए थे और अब वह डिस्चार्ज होने के बाद लखनऊ लौट गए हैं.

    मुलायम सिंह यादव  की 14 अक्टूबर को आई थी रिपोर्ट
    बता दें 14 अक्टूबर को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे. उनकी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव (Corona Positive) आई थी. इसके बाद उन्‍हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था. यही नहीं, अपने पिता की तबीयत को लेकर अखिलेश यादव भी सोशल मीडिया पर अपडेट दे रहे थे. जबकि आज उन्‍होंने लिखा, 'माननीय नेताजी स्वस्थ होकर घर आ गये हैं और कुछ दिन घर पर ही रहकर स्वास्थ्य लाभ करेंगे.'





    उपचुनाव में नहीं करेंगे प्रचार!
    मुलायम सिंह यादव को पिछले दिनों तबीयत खराब होने के बाद भी समाजवादी पार्टी ने स्टार प्रचारकों की सूची में रखा था, लेकिन घर पर स्वास्थ्य लाभ करने के कारण वह उत्तर प्रदेश विधानसभा में 7 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में अपनी पार्टी के प्रत्याशियों का प्रचार नहीं कर पाएंगे. इसी तरह जेल में बंद आजम खान को भी पार्टी ने स्टार प्रचारक की लिस्ट में रखा है.



    बहरहाल, समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव 80 साल के हैं. वह इस समय उत्‍तर प्रदेश की मैनपुरी लोकसभा सीट से सांसद हैं. हालांकि खराब सेहत की वजह से वह पिछले काफी समय से राजनीति में ज्‍यादा सक्रिय नहीं हैं. यही नहीं, नेताजी 3 बार उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री रह चुके हैं. जबकि 2012 में बहुमत मिलने के बाद मुलायम सिंह यादव ने अपने बेटे अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को यूपी का मुख्‍यमंत्री बनाया था.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज