लाइव टीवी

लखनऊ: CAA के खिलाफ प्रदर्शन में पहुंचे फरंगी महली, बोले- इंशाअल्लाह सरकार इस कानून को जरूर वापस लेगी
Lucknow News in Hindi

Mohd Shabab | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 28, 2020, 8:24 AM IST
लखनऊ: CAA के खिलाफ प्रदर्शन में पहुंचे फरंगी महली, बोले- इंशाअल्लाह सरकार इस कानून को जरूर वापस लेगी
घंटाघर में चल रहे प्रदर्शन को मिला फरंगी महली का सपोर्ट

CAA-NRC Protest: मौलाना खालिद रशीद के साथ ईसाई धर्मगुरु बिशप गेराल्ड मथिहस भी घंटाघर पहुंचे थे. फरंगी महली ने कहा कि सरकार को इस कानून को वापस लेना चाहिए.

  • Share this:
लखनऊ. राजधानी लखनऊ के घंटाघर पर नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ महिलाओं के प्रदर्शन में सोमवार को ईदगाह के इमाम और ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली (Maulana Khalid Rashid Farangi Mahli) भी पहुंचे. उन्होंने सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन कर रही महिलाओं का समर्थन किया.

मौलाना खालिद रशीद के साथ ईसाई धर्मगुरु बिशप गेराल्ड मथिहस भी थे. फरंगी महली ने कहा कि सरकार को इस कानून को वापस लेना चाहिए और मैं इतनी बड़ी तादाद में हर मजहब की आईं बहनों का शुक्रिया अदा करता हूं कि आप लोगों की मेहनत की बदौलत ये प्रदर्शन जारी है. उन्‍होंने कहा कि इंशाअल्लाह सरकार इस कानून को जरूर वापस लेगी. बता दें कि इससे पहले ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष मौलाना कल्बे सादिक बीमार होने के बावजूद इन महिलाओं की हौसला अफजाई के लिए घंटाघर पहुंच चुके हैं. इनके अलावा वरिष्ठ वकील जफरयाब जिलानी और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील महमूद पराचा भी इन महिलाओं के प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंच चुके हैं.

ईडी का दावा यूपी हिंसा में PFI का पैसा
उत्‍तर प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा पर प्रवर्तन निदेशालय के खुलासे पर कोहराम मचा हुआ है. ईडी सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय को भेजी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि हिंसा के पीछे पीएफआई का हाथ है. इतना ही नहीं पीएफआई के अलग-अलग खतों से 120 करोड़ से ज्यादा की रकम ट्रान्सफर किया गया है. इसके बाद यूपी सरकार के मंत्री मोहसिन रजा ने कहा कि पीएफआई में 120 करोड़ रुपए किसने दिए और कहां से आए इन सब की जांच होगी.

कई कांग्रेस नेताओं के नाम
मोहसिन रजा ने कहा कि ईडी के खुलासे में कांग्रेस के कई नेताओं के नाम सामने आए हैं, जिनके खाते में पैसा आया है. कांग्रेस को सामने आकर सफाई देनी चाहिए. प्रदेश और देश में सिमी के आतंकियों ने पीएफआई संगठन के माध्यम से हिंसा फैलाई. मंत्री ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वाले कई चेहरे सामने आएंगे. कांग्रेस और सपा जो सीना पीट रही थी, अब उसे जवाब देना होगा.

ये भी पढ़ें:यूपी में CAA हिंसा खुलासे पर बोले मंत्री मोहसिन रजा- PFI फंडिंग की होगी जांच

गांधी शांति यात्रा लेकर लखनऊ पहुंचे यशवंत सिन्हा बोले- CAA में कई खामियां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 7:56 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर