लाइव टीवी

CAA और NRC के खिलाफ धरना देने वालीं मुस्लिम महिलाएं भोली-भाली नहीं हैं: वसीम रिजवी
Lucknow News in Hindi

Mohd Shabab | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 22, 2020, 1:40 PM IST
CAA और NRC के खिलाफ धरना देने वालीं मुस्लिम महिलाएं भोली-भाली नहीं हैं: वसीम रिजवी
शिया बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी

शिया बोर्ड (Shia Board) के चेयरमैन वसीम रिजवी (Waseem Rizvi) ने इसके साथ ही कहा कि अखिलेश यादव और और राहुल गांधी की मुस्लिम कटरपंथी सियासत की दुकानें बंद हो चुकी हैं. कांग्रेस इसीलिए प्रियंका गांधी को आगे कर धार्मिक सियासत कर रही है. असल में इस प्रदर्शन में टुकड़े-टुकड़े गैंग की महिलाएं धरने पर हैं.

  • Share this:
लखनऊ. शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड (Shia Central Waqf Board) के चेयरमैन वसीम रिजवी (Waseem Rizvi) लगातार अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं. इसी क्रम में उन्होंने बुधवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) को लेकर हो रहे विरोध-प्रदर्शनों पर निशाना साधा. वसीम रिजवी ने कहा कि प्रदर्शन कर रहीं महिलाएं भोली-भाली नहीं हैं. बल्कि वो कांग्रेस (Congress) की राजनीति का शिकार हो रही हैं. कांग्रेस इस तरह के प्रदर्शनों से ये मैसेज देना चाहती है कि बीजेपी की सरकार में मुसलमान (Muslim) सुरक्षित नहीं हैं. जबकि प्रदर्शन कर रहीं महिलाएं भी ये जानती हैं कि सीएए और एनआरसी से मुसलमानों को कोई खतरा नहीं है.

रिजवी ने समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव पर भी तंज कसते हुए कहा कि अखिलेश यादव और और राहुल गांधी की मुस्लिम कट्टरपंथी सियासत की दुकान बंद हो चुकी है. कांग्रेस इसिलिए प्रियंका गांधी को आगे कर धार्मिक सियासत कर रही है. असल में इस प्रदर्शन में 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' की महिलाएं धरने पर हैं.

बता दें इससे पहले भी वसीम रिजवी विरोध-प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं पर पैसा लेकर प्रदर्शन करने जैसे तमाम आरोप लगा चुके हैं.

ये भी पढ़ें:

वाराणसी: उद्घाटन को तैयार नेताजी सुभाष चंद्र बोस का पहला मंदिर

संकट में आजम खान के करीबी, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष की 1.78 करोड़ की आरसी जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 1:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर