Home /News /uttar-pradesh /

MBBS में एडमिशन दिलाने के नाम पर छात्रा से 18 लाख रुपयों की ऑनलाइन ठगी, पुलिस ने वापस दिलवाया पैसा

MBBS में एडमिशन दिलाने के नाम पर छात्रा से 18 लाख रुपयों की ऑनलाइन ठगी, पुलिस ने वापस दिलवाया पैसा

पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराती छात्रा.

पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराती छात्रा.

UP Crime News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जनपद जालौन में एक बार फिर ऑनलाइन ठगी (Online Fraud) का एक बड़ा मामला सामने आया है.

जालौन. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जनपद जालौन में एक बार फिर ऑनलाइन ठगी (Online Fraud) का एक बड़ा मामला सामने आया है. साइबर सेल और जनपद पुलिस के प्रयास के बाद पूरे मामले में सफलता तो मिली है, लेकिन आरोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं. पूरा मामला उरई कोतवाली क्षेत्र का है, जहां साइबर ठगों ने एक छात्रा को अपना शिकार बनाया है और एबीबीएस में एडमिशन दिलाने के नाम पर 18 लाख रुपये ठग लिए. हालांकि जब छात्रा को जब ठगे जाने का अहसास हुआ तो उस ने परिजनों के साथ जाकर उरई कोतवाली में अग्यात साइवर ठगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया.

मुकदमा दर्ज होने के बाद जालौन साइवर सेल इस पूरे मामले की जाँच में जुट गई. इसके बाद मंगलवार को जालौन पुलिस और साइबर क्राइम टास्क फोर्स टीम को बड़ी सफलता मिली है. ठगों द्वारा साइबर ठगी कर 18 लाख रुपये पीड़िता को वापिस दिला कर चेहरे पर मुस्कान लौटाई गयी है.

इस तरह दिया वारदात को अंजाम
पूरा मामला उरई कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला पटेल नगर का है जहाँ की  उन्नति शर्मा ने उरई कोतवाली में अपने पिता के बैंक खाते से 18 लाख रुपये ठगे जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. पुलिस की साइबर क्राइम टास्क फोर्स टीम ने ठगी गई धनराशि वापस करा दी. इससे पीड़ित परिवार के चेहरे पर मुस्कान लौट आई है. उन्नति के पिता ने 28 जून 2019 को सौरभ के खाते में 99 हजार 996 रुपये भेज दिए. इसके बाद 19 जुलाई 19 को आरटीजीएस के माध्यम से 14 लाख रुपये उसके खाते में ट्रांसफर किए. इसके बाद कई बार में कुल 18 लाख रुपये उसे दे दिए। दो माह बीत जाने के बाद न तो सौरभ ने रुपये दिए और न ही उसका एमबीबीएस में प्रवेश दिलाया उसके द्वारा दिया गया चेक भी फर्जी निकला. पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू की थी. साइबर क्राइम टीम ने युवती की 18 लाख रुपये की धनराशि वापस करा दी.

Tags: Jalaun news, Uttar pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर