नेशनल इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल पर छेड़खानी का आरोप, छात्राओं ने किया हंगामा

एक छात्रा ने बताया कि प्रिंसिपल एक बार बहाने से घर आए और अश्लीत बातें शुरू कर दी. जिसका उसने विरोध किया.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 13, 2018, 11:00 PM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 13, 2018, 11:00 PM IST
लखनऊ के नेशनल इंटर कॉलेज में गुरु-शिष्य के रिश्ते को कलंकित करने वाला मामला सामने आया है. तीन नाबालिग छात्राओं ने प्रिंसिपल पर अश्लीलता करने का आरोप लगाया है. इसे लेकर छात्राओं के साथ ही अभिभावकों ने कॉलेज पहुंचकर जमकर हंगामा किया. छात्राओं ने अपनी लिखित शिकायत पुलिस को दी है. जिसके आधार पर कार्रवाई की जा रही है.

छात्राओं का आरोप है कि कॉलेज के प्रिंसिपल उमा शंकर सिंह अक्सर ही उनसे अश्लील बातें करते हैं. एक छात्रा ने बताया कि प्रिंसिपल एक बार बहाने से घर आए और अश्लीत बातें शुरू कर दी. जिसका उसने विरोध किया. इसके बाद सोमवार को जब छात्रा कॉलेज अपनी मार्कशीट लेने पहुंची तो प्रिंसिपल ने उसे अकेले कमरे में बैठा लिया. साथ की कुछ और छात्राएं जब वहां पहुंची तो प्रिंसिपल ने उन्हें भी वहां बैठा लिया और अश्लील बातें करने के साथ धमकाने लगे.

छात्राओं ने बताया कि बोर्ड परीक्षाओं के दौरान प्रिंसिपल ने एक शिक्षिका से भी अश्लील बातें की थीं. मंगलवार को छात्राएं और अभिभावक जब कॉलेज पहुंचे तो प्रिंसिपल अपने कार्यालय से भाग निकले. वहीं कॉलेज की एक शिक्षिका ने बताया कि बोर्ड परीक्षाओं के दौरान प्रिंसिपल ने ड्यूटी पर आने वाली शिक्षिका से भी गलत बातें करने की कोशिश की थी. कॉलेज की शिक्षिका ने ड्यूटी पर आई शिक्षिका का व्हॉट्स एप पर भेजा हुआ मैसेज भी दिखाया. जिसमें उसने प्रिंसिपल की करतूत बताई थी.

हंगामा बढ़ने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को जब प्रिंसिपल मौके पर नहीं मिले तो वह कॉलेज परिसर में बने उनके आवास पर गई. यहां प्रिंसिपल के परिजनों ने पहले तो पुलिस को घर के अंदर घुसने से रोका. जब पुलिस किसी तरह अंदर घुसी तो घर की महिलाओं ने उन्हें धक्का देकर बाहर निकाल दिया.

महिलाओं ने बताया कि प्रिंसिपल घर पर नहीं हैं, जब होंगे तब आएं. इतना ही नहीं महिलाओं ने पुलिस से कहा कि बिना वॉरंट घर में घुसने की कोशिश न करें. महिलाओं का यह रूप देख पुलिस भी उल्टे पैर वापस लौट आई. हालांकि बाद में प्रिंसिपल उमा शंकर पुलिस के जाने के बाद मीडिया के सामने आए और अपना पक्ष रखा. प्रिंसिपल ने कहा कि उन पर जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं, वह बेबुनियाद हैं. कॉलेज के दो टीचर्स मिलकर इसकी साजिश कर रहे हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर