News 18 Impact: डिप्टी सीएम सख्त, मेरठ मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन पाइपलाइन टेंडर निरस्त
Meerut News in Hindi

News 18 Impact: डिप्टी सीएम सख्त, मेरठ मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन पाइपलाइन टेंडर निरस्त
यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (file photo)

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने न्यूज़ 18 की खबर का संज्ञान लेते हुए एमडी से रिपोर्ट तलब की. इसके बाद महाप्रबंधक एके सिंह ने यह टेंडर निरस्त करने का आदेश जारी कर दिया. उपमुख्यमंत्री ने इस गड़बड़ी के जिम्मेदारों की पहचान कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश भी यूपीआरएनएन के एमडी को दिया है.

  • Share this:
मेरठ/लखनऊ. उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम (UPRNN) ने मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज (Lala Lajpat Rai Medical College) में ऑक्सीजन सप्लाई के लिए कराए गए टेंडर को निरस्त कर दिया है. न्यूज 18 ने इस मामले को प्रमुखता से उठाया था. दरअसल 2017 में हुए गोरखपुर ऑक्सीजन कांड की आरोपी कंपनी को टेक्निकल व फाइनेंशियल बिड में पास कर टेंडर की लगभग सभी जरूरी प्रक्रिया को जारी दिया था. डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने न्यूज़ 18 की खबर का संज्ञान लेते हुए एमडी से रिपोर्ट तलब की. इसके बाद महाप्रबंधक एके सिंह ने यह टेंडर निरस्त करने का आदेश जारी कर दिया. उपमुख्यमंत्री ने इस गड़बड़ी के जिम्मेदारों की पहचान कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश भी यूपीआरएनएन के एमडी को दिया है.

मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन पाइप लाइन के लिए निर्माण इकाई उप्र राजकीय निर्माण निगम ने टेंडर कराया था. इसमें फाइनेंशियल व टेक्निकल बिड में टेंडर कमेटी ने पुष्पा सेल्स प्राइवेट लिमिटेड को सबसे योग्य पाया था. इस बीच इस मामले में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए सीएम और मुख्य सचिव को शिकायती पत्र भेजा गया. पत्र के मुताबिक सीवीसी गाइडलााइन के क्लाज 13ए को दरकिनार करते हुए निविदा प्रकिया पूर्ण की गई, जिसका फायदा गोरखपुर कांड की आरोपी कंपनी को मिला.

लखनऊ में भी आया ऐसा ही मामला, हुआ था एक्शन



क्लाज 13 ए के मुताबिक टेंडर में ऐसी किसी कंपनी को शामिल नहीं किया जा सकता, जिसके खिलाफ एफआईआर हो या अदालत में मामला चल रहा हो. उप्र निर्माण निगम ने टेंडर में सीवीसी के इस क्लाज को शामिल ही नहीं किया था. इससे पहले ऐसा ही खेल राजधानी लखनऊ के डॉ राम मनोहर लोहिया इंस्टीट्यूट में ऑक्सीजन लाइन के लिए हुए टेंडर में भी किया गया था. न्यूज़ 18 द्वारा खुलासा होने के बाद वहां का भी टेंडर को निदेशक प्रो एके त्रिपाठी ने न्यूज़ 18 के कैमरे पर आकर टेंडर को निरस्त कर आरोपी फर्म पुष्पा सेल्स के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही थी.
ये भी पढ़ें:

लखनऊ की बाद मेरठ मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन पाइपलाइन टेंडर पर उठे सवाल

CM योगी आदित्यनाथ की प्रवासी मजदूरों से अपील- धैर्य रखें, जल्द होगी घर वापसी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज