सुर्खियां: यूपी के शिक्षामित्रों को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, कश्मीर के 20 खूंखार आतंकी नैनी जेल में शिफ्ट

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश में पूरी तरह अराजकता की स्थिति बनी हुई है. मुख्यमंत्री की कोई बात न तो उनके सहयोगी मंत्री सुन रहे हैं और नहीं उनके अधिकारी. प्रशासनिक व्यवस्था में अस्थिरता व्याप्त है.

News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 7:07 AM IST
सुर्खियां: यूपी के शिक्षामित्रों को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, कश्मीर के 20 खूंखार आतंकी नैनी जेल में शिफ्ट
यूपी के शिक्षामित्रों को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका
News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 7:07 AM IST
उत्तर प्रदेश के शिक्षामित्रों को सुप्रीम कोर्ट से एक बार फिर झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने शिक्षामित्रों का सहायक शिक्षक के तौर पर समायोजन रद करने वाले फैसले के खिलाफ दाखिल शिक्षा मित्रों की क्यूरेटिव याचिका खारिज कर दी है. कोर्ट पुनर्विचार याचिका पहले ही 30 जनवरी 2018 को खारिज कर चुका है. यह मामला उत्तर प्रदेश में 172000 शिक्षामित्रों को सहायक शिक्षक के तौर पर समायोजित करने का था. कोर्ट ने आदेश में कहा है कि उन्होंने याचिका और उसके साथ दाखिल दस्तावेजों पर गौर किया जिसमें पाया कि यह मामला क्यूरेटिव याचिका पर विचार करने के सुप्रीम कोर्ट के फैसलों में तय मानकों में नहीं आता इसलिए याचिका खारिज की जाती है. दैनिक जागरण ने इस खबर प्रमुखता दी है.

नैनी जेल में शिफ्ट हुए कश्मीर के 20 खूंखार आतंकी
अमर उजाला लिखता है जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद वहां के 20 खूंखार आतंकियों को गोपनीय तरीके से रविवार को केंद्रीय कारागार नैनी में शिफ्ट किया गया. सीआरपीएफ जवानों और जम्मू-कश्मीर पुलिस की संयुक्त टीम की सुरक्षा में सभी आतंकियों को जम्मू से विशेष फ्लाइट से यहां बम्हरौली एयरपोर्ट पर लाया गया. वहां से स्थानीय पुलिस की खास सुरक्षा व्यवस्था में तीन वैन से उनको सेंट्रल जेल लाया गया. आतंकियों के आने के बाद केंद्रीय कारागार, नैनी की भीतर व बाहर की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है.

यूपी में अराजकता की स्थिति- अखिलेश यादव

हिंदुस्तान लिखता है समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश में पूरी तरह अराजकता की स्थिति बनी हुई है. मुख्यमंत्री की कोई बात न तो उनके सहयोगी मंत्री सुन रहे हैं और नहीं उनके अधिकारी. प्रशासनिक व्यवस्था में अस्थिरता व्याप्त है. अधिकारियों को निलंबित करने की धमकी और उनको जेल भेजने का कोई प्रभाव प्रशासन पर पड़ने से रहा.

मंत्री के सामने ही विधायक से भिड़े बीजेपी कार्यकर्ता
वाराणसी में भाजपा कार्यकर्ताओं और भाजपा विधायक के बीच रविवार को कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना के सामने ही भिड़ंत हो गई. शहर की समस्या मंत्री से बताने पर विधायक रवींद्र जायसवाल ने कार्यकर्ताओं को कांग्रेसी एजेंट कह दिया. इसी पर जमकर हंगामा शुरू हो गया. स्थिति यह हो गई कि मंत्री के सामने ही विधायक समर्थकों और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच मीडिया के सामने ही गाली-गलौज भी शुरू हो गई. इससे पहले कि विवाद और बढ़ता मंत्री अपनी कार में बैठकर आगे बढ़ गए. दैनिक हिंदुस्तान ने इस खबर प्रमुखता दी है.
Loading...

ये भी पढ़ें:

चर्चा में आया 'अल्लाह' लिखा हुआ ये बकरा, इतनी है कीमत

बदायूं के जिला महिला अस्पताल में 32 बच्चों की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 12, 2019, 7:07 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...