सुर्खियां: शामली के SP अजय कुमार ने शिवभक्त के दबाए पांव, आजम का सदन में प्रवेश हो प्रतिबंधित

सम्भल जनपद से तकरीन 11 किलोमीटर की दूरी पर बबैना के निकट इस मदरसे में दिन की शुरुआत मां गायत्री के मंत्र के वंदन से शुरू होती है तो बच्चे वंदेमातरम के बाद ही दीनी व दुनियावी तालीम हासिल करते हैं.

News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 11:53 AM IST
News18Hindi
Updated: July 28, 2019, 11:53 AM IST
शामली में एक कांवड़ शिविर का शुभारंभ करने पहुंचे एसपी अजय कुमार ने वहां एक शिवभक्त को दर्द से कराहता देख पैर दबाकर उनकी सेवा की. एक संस्था ने शहर में शुक्रवार को प्राकृतिक चिकित्सा सेवा शिविर का शुभारंभ किया था. एसपी शिविर का शुभारंभ करके चलने लगे तो देखा कि शिविर के अंदर एक शिवभक्त पैर के दर्द से काफी कराह रहा था. उसे देख एसपी वापस मुड़े और दर्द से कराह रहे शिव भक्त के पैरों को दबाने लगे. उन्होंने पास में रखा एक स्टूल मंगाया ओर उस पर बैठकर काफी देर तक शिव भक्त के पैर दबाकर उसकी सेवा की और उसकी कुशलता पूछते रहे. राजधानी लखनऊ के सभी अखबारों ने इस खबर को प्रमुखता दी है.

आजम का सदन में प्रवेश हो प्रतिबंधित
अमर उजाला लिखता है सांसद आजम खान द्वारा लोकसभा की पीठासीन सभापति रमा देवी पर की गई अमर्यादित टिप्पणी पर सूबे के स्वास्थ्य मंत्री ने हमला बोला है. शनिवार को प्रयागराज में प्रवास के दौरान उन्होंने कहा कि आजम खां द्वारा की गई टिप्पणी के लिए माफी बहुत छोटी चीज है. इसके लिए उन्हें न केवल दंडित किया जाना चाहिए, बल्कि उनके किसी भी सदन में प्रवेश को प्रतिबंधित करते हुए आजम की सार्वजनिक रूप से भर्त्सना भी की जानी चाहिए. क्योंकि इस तरह की हरकतें वे पहले भी कर चुके हैं.

सड़क हादसे में अयोध्या के महंत की मौत

हिंदुस्तान लिखता है सरयू तट पर रामनाम महायज्ञ के आयोजक सिद्धसंत तपस्वी बाबा नारायण दास के शिष्य एवं फटिक शिला के महंत रामाज्ञा दास ( 55) वर्ष की सड़क दुर्घटना में आकस्मिक मृत्यु हो गई. यह दुर्घटना एक्सप्रेस वे पर कन्नौज के पास उस समय हुई जब वह वृंदावन से सुबह अयोध्या के लिए निकले थे.बताया गया कि हादसे में वाहन चालक सरोज भी गंभीर रूप से घायल हो गया है. उसे लखनऊ के ट्रामा सेंटर भेजा गया है.

इस मदरसे में नमाज के साथ गायत्री मंत्र
दैनिक जागरण लिखता है देश में जहां इन दिनों मंदिर मस्जिद, वंदेमातरम और मॉब लिंचिंग एक बड़ा मुद्दा बन चुका है वहीं सम्भल जनपद से तकरीन 11 किलोमीटर की दूरी पर बबैना के निकट स्थित मदरसा मौलाना मोहम्मद अली जौहर मऊभूड़ सांप्रदायिक सद्भाव की मिसाल है. इस मदरसे में दिन की शुरुआत मां गायत्री के मंत्र के वंदन से शुरू होती है तो बच्चे वंदेमातरम के बाद ही दीनी व दुनियावी तालीम हासिल करते हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें:

मुस्लिमों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के मामले में साध्वी प्राची पर केस दर्ज

मॉब लिंचिंग: पीएम मोदी को पत्र लिखने वालों को बीजेपी सांसद ने बताया 'नंगा गैंग'
First published: July 28, 2019, 6:20 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...