अब पूरे लखनऊ जिले में अगले आदेशों तक लगाया गया नाइट कर्फ्यू, आज से लागू

लखनऊ के शहरी इलाकों के साथ ही देहात क्षेत्र में भी नाइट कर्फ्यू का ऐलान (प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ के शहरी इलाकों के साथ ही देहात क्षेत्र में भी नाइट कर्फ्यू का ऐलान (प्रतीकात्मक फोटो)

Lucknow News: लखनऊ के डीएम ने आदेश दिया है कि आज रात (शुक्रवार) से पूरे जिले में (शहरी और देहात क्षेत्र) रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू हो रहा है. ये अग्रिम आदेशों तक रोज जारी रहेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 5:41 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश् की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में वैसे तो शहरी क्षेत्र में पहले से ही रात्रिकालीन कर्फ्यू लगा था. लेकिन अब डीएम लखनऊ ने आदेश दिया है कि संपूर्ण लखनऊ जनपद में अग्रिम आदेशों तक रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू हो गया है. आज रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक प्रत्येक दिन रात्रिकालीन कर्फ्यू जारी रहेगा. उन्होंने बताया कि दिन में सुबह 7 बजे से शाम 8 बजे तक कोविड प्रोटोकाल के साथ काम चलता रहेगा. आवश्यक वस्तु को लाने ले जाने की छूट होगी. रात्रिकालीन कर्फ्यू संपूर्ण लखनऊ जनपद में लागू होगा.

डीएम ने आदेश दिया है कि फल, सब्जी, दूध, एलपीजी, पेट्रोल-डीजल और दवा की सप्लाई जारी रहेगी. रात्रि कालीन शिफ्ट के सरकारी/अर्ध सरकारी कार्मिक और आवश्यक वस्तुओं/सेवाओं में लगे निजी क्षेत्र के कार्मिकों को छूट होगी. इसके अलावा रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, एयरपोर्ट पर आने जाने वाले लोग अपना टिकट दिखाकर आ जा सकेंगे. हर प्रकार की मालवाहक गाड़ियों के आने-जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा.

Youtube Video


बता दें आज सुबह ही टीम-11 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश देते हुए कहा कि लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, मेरठ, गोरखपुर सहित 2000 से अधिक एक्टिव केस वाले सभी 10 जनपदों में रात्रि 8 बजे से प्रातः 7 बजे तक कोरोना कर्फ्यू प्रभावी किया जाए. इस आदेश को तत्काल प्रभाव से लागू करने को कहा गया है. लोगों को मास्क और सैनिटाइजेशन के महत्व को समझाने और आवश्यकतानुसार कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए गए हैं.
अस्पतालों के लिए दिए ये निर्देश

इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि राजधानी लखनऊ में अन्य जनपदों के मरीजों का आना स्वभाविक है. ऐसे में यहां अतिरिक्त व्यवस्था करने की आवश्यकता है. केजीएमयू और बलरामपुर हॉस्पिटल को पूरी तरह से कोरोना डेडिकेटेड हॉस्पिटल के रूप में तैयार करने को कहा गया है. हालांकि इस दौरान नॉन कोविड मरीजों की सुविधा का पूरा ध्यान रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि लखनऊ में टीएस मिश्र हॉस्पिटल, इंटीग्रल और हिन्द मेडिकल कॉलेजों को डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल के रूप में क्षमता विस्तार किए जाने की आवश्यकता है. अगले दो दिनों ने यहां अतिरिक्त बेड्स उपलब्ध कराए जाएं.

20 मई के बाद बोर्ड परीक्षा पर विचार



मुख्यमंत्री ने कोविड संक्रमण से बचाव को देखते हुए 12वीं तक के विद्यालयों में 15 मई तक पठन-पाठन स्थगित रखने का भी निर्देश दिया है. इस अवधि में कोई परीक्षा भी आयोजित नहीं होगी. माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 20 मई के बाद आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं. नई समय-सारिणी के लिए मई के पहले सप्ताह में विचार किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज