मुख्तार अंसारी को लाने के लिए यूपी में नहीं बनी कोई विशेष टीम, जानिए कौन लाएगा?

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुख़्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश लाया जाना था लेकिन मोहली कोर्ट में मामले की सुनवाई 12 अप्रैल तक टल गई है.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुख़्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश लाया जाना था लेकिन मोहली कोर्ट में मामले की सुनवाई 12 अप्रैल तक टल गई है.

Lucknow News: माफिया मुख्तार अंसारी को पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल लाया जाना है. इसे लेकर तैयारियां चल रही हैं. इस बीच कयासों का दौर भी शुरू हो गया है कि मुख्तार कब, कैसे किसके साथ यूपी लाया जाएगा. इस बीच गृह विभाग ने अहम ऐलान किया है.

  • Share this:
लखनऊ. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद माफिया और बसपा विधायक मुख़्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को यूपी लाने जाने के मामले में योगी सरकार (Yogi Government) ने अपनी तरफ़ से तैयारियां पूरी कर ली हैं. सभी की निगाहें मुख्तार को यूपी लाने के रोडमैप पर लगी हैं. तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. इस बीच उत्तर प्रदेश गृह विभाग (Home Department, Uttar Pradesh) ने बड़ा ऐलान किया है. गृह विभाग के मुताबिक मुख़्तार अंसारी को पंजाब की रोपड जेल से लाने के लिए किसी भी विशेष टीम का गठन नहीं किया गया है. उसके पीछे कारण ये है कि यूपी के गृह विभाग का मानना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक पंजाब से यूपी की बांदा जेल तक मुख़्तार अंसारी को पहुंचाना पंजाब पुलिस की जिेम्मेदारी है. हां, अगर पंजाब पुलिस किसी तरह की मदद चाहती है तो यूपी पुलिस तैयार है. बाकी यूपी सरकार के निर्देश के अनुसार यूपी पुलिस काम करेगी.

बता दें सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब सरकार को आदेश दिया है कि दो हफ़्ते के भीतर मुख़्तार को यूपी सौपा जाए. अदालत ने ये भी कहा है कि मुख़्तार को पहले यूपी की बांदा जेल में रखा जाए. इस पर यूपी जेल प्रशासन का कहना है कि वैसे तो हमारे पास प्रोटोकॉल के तहत हमेशा पुख़्ता इंतज़ाम रहते हैं लेकिन मुख़्तार के मामले में सारे पहलुओं को ध्यान में रखकर इंतज़ाम किए गए हैं. मुख़्तार को रखने के लिये बांदा जेल में सुरक्षित सेल का चुनाव किया गया है, जहां किसी भीतरी से ख़तरा ना हो सके.

Youtube Video


बहुत सारी तैयारियां हैं, खुलासा नहीं कर सकते: डीजी जेल
मुख्तार अंसारी को लेकर डीजी जेल आनंद कुमार ने कहा कि हम पूरी तरह से तैयार हैं. हमारी जेल में पूरी तरह सुरक्षित हैं. जेल में हमारी पूरी तैयारी है. आनंद कुमार ने कहा क सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक मुख्तार अंसारी को बांदा जेल में रखा जाएगा. उसके बाद यह तय किया जाएगा कि उसे आगे कहां भेजा जाए? डीजी जेल ने कहा कि जो जेल में रहेगा उसे जेल के नियमों का पालन करना पड़ेगा अन्यथा की स्थिति में कार्यवाही झेलनी पड़ेगी. हमने बहुत सारी तैयारियां कर रखी हैं लेकिन उसका खुलासा नहीं कर सकते. मुख्तार को बांदा जेल में शिफ्ट किया जाएगा. सुरक्षा से लेकर स्वास्थ्य की बातों को ध्यान में रखा जाएगा लेकिन जेल मैनुअल के तहत ही सारी चीजें की जाएंगी. किसी को जेल में कानून तोड़ने का अधिकार नहीं है.

वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी पेशी

आपको बता दे कि यूपी में आने के बाद यहां दर्ज मुक़दमों के आधार पर सुनवाई के लिये इसी जेल में व्यवस्था की जायेगी. सुरक्षित कोविड प्रोटोकॉल के चलते संभव है कि मुख़्तार की अदालत में पेशी वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के ज़रिये की जायेगी. उसके बाद अदालत के आदेश पर उसे यूपी में दर्ज मामलों के लिये पुलिस को पूछताछ के लिये सौंपा जा सकता है. यूपी में आने के बाद मुख़्तार का हेल्थ और कोरोना चेकअप कराया जायेगा और निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्यवाही की जायेगी. यूपी में जेल में रखने के बाद मुख़्तार की बैरक की सुरक्षा कड़ी की जायेगी. मुख़्तार के परिवारवाले पहले आशंका जता चुके है कि यूपी में मुख़्तार का जान को ख़तरा है. इस संबंध में मुख्तार की पत्नी अफशां अंसारी ने राष्ट्रपति को पत्र भी लिखा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज