• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • योगी सरकार के खिलाफ 1 अक्टूबर से सपा का 'पोल खोल' अभियान, आंकड़ों पर घेरने की तैयारी

योगी सरकार के खिलाफ 1 अक्टूबर से सपा का 'पोल खोल' अभियान, आंकड़ों पर घेरने की तैयारी

अखिलेश यादव ने बनाया बीजेपी को घेरो पोल खेलो प्लान

अखिलेश यादव ने बनाया बीजेपी को घेरो पोल खेलो प्लान

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) केंद्र सरकार और राज्य की योगी सरकार को घेरने के लिए आक्रामक रणनीति बना रही है. इसकी झलक 1 अक्टूबर को यूपी की हर तहसील पर होने वाले सपा के प्रदर्शन में दिखेगी, जिसका नाम दिया गया है ' बीजेपी घेरो पोल खोलो '.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में उपचुनाव (By Election) का बिगुल बज चुका है और सत्तारूढ़ बीजेपी (BJP) को घेरने के लिए समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और कांग्रेस (Congress) लगातार सरकार को कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर घेर रही है. चिन्मयानंद यौन प्रकरण (Chinmyanand Sexual Harassment Case) में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) जहां ट्विटर मोर्चा संभल रही हैं वहीं कार्यकर्ता जमीन पर संघर्ष कर रहे हैं. अब समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) भी 1 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में योगी सरकार के खिलाफ पोल खोल अभियान चलाने जा रहे हैं. इसके तहत सपा ने सरकार को आंकड़ों पर घेरने का प्लान बनाया है और इसकी जिम्मेदारी युवाओं को दी गई है.

एसपी कार्यकर्ता बीजेपी को मुद्दों पर बहस की चुनौती भी देंगे

दरअसल, समाजवादी पार्टी केंद्र सरकार और राज्य की योगी सरकार को घेरने के लिए आक्रामक रणनीति बना रही है. इसकी झलक 1 अक्टूबर को यूपी की हर तहसील पर होने वाले सपा के प्रदर्शन में दिखेगी, जिसका नाम दिया गया है ' बीजेपी घेरो पोल खोलो '. पार्टी का प्लान है जनहित कि हर योजना के तथ्य और आंकड़े जुटाकर बीजेपी के दावों की पोल खोलना. एसपी कार्यकर्ता बीजेपी को मुद्दों पर बहस की चुनौती भी देंगे। इसके लिए युवाओं को साथ जोड़ा जाएगा. पार्टी का निर्देश है कि युवा बीजेपी के दावों पर तथ्यों के साथ आक्रामक होकर बोलें। इसके लिए युवा कार्यकर्ता तथ्यों और आंकड़ों से खुद को मजबूत करें। बीजेपी को बहस के लिए चुनौती दें और उनकी पोल खोलें. उसके साथ साथ वर्करों को भरोसा दिया जाएगा कि सत्ता से दूर रहने पर निराश नहीं होना है, 2022 में फिर से पार्टी सत्ता में लौटेगी, ऐसा तर्क दिया जाएगा, क्योंकि बीजेपी रोजगार समेत हर मुद्दे पर झूठ बोलती है. युवा तनाव में हैं. इसके लिए वर्कर कॉलेजों और यूनिवर्सिटी जाकर युवाओं से मिलेंगे. रोजगार के आंकड़े उनके सामने पेश कर बीजेपी की असलियत पेश करेंगे और एसपी के साथ उनको जोड़ेंगे.

सपा करे चिंता: केशव

इधर एक ओर सपा योगी सरकार को आंकड़ो पर घेरने का प्लान बना रही है लेकिन दूसरी ओर बीजेपी का कहना प्रदेश की सरकार योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में शानदार काम कर रही है. इसलिए कोई चिंता की बात नहीं है. उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि चिंता सपा को करनी चाहिए। उनकी अपनी पोल जो उनके कार्यकाल में हुई गड़बड़ियों की खुल रही है, पहले उसके बारे में सोचना चाहिए। सपा को जो करना है करती रहे उससे उपचुनावों पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला।

दरअसल, उत्तर प्रदेश में भले ही उपचुनाव हों, लेकिन सभी पार्टियां इसे कम आंकने के मूड में नहीं हैं और चुनाव जीतने के लिये कोई कसर छोड़ती नहीं दिख रही. जहां एक ओर उपचुनावों में बीजेपी का ट्रैक रिकॉर्ड खराब है, इसलिए उसकी कमान खुद मुख्यमंत्री ने संभाली हुई है, वहीं सपा प्रदेश व्यापी प्रदर्शन के ज़रिए उपचुनाव में अपने पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश कर रही है. हालांकि इस चुनाव के परिणाम से सरकार की सेहत पर कोई असर नहीं पड़ने वाला, लेकिन सभी पार्टियां जिस तरह जीतने की कोशिश कर रही हैं, इसे चुनाव रोमांचक ज़रूर हो गया है.

ये भी पढ़ें:

आर्टिकल 370 की वजह से UP उपचुनाव ही नहीं, महाराष्ट्र व हरियाणा भी जीतेंगे

आजम खान के किले को बचाने मैदान में उतरीं पत्नी तजीन फातिमा, बीजेपी ने कसा तंज

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज