लाइव टीवी

अब यूपी वालों को गुमराह नहीं कर पाएगा कोई 'नशा', 2022 में बनेगी सपा की सरकार: अखिलेश

भाषा
Updated: November 8, 2019, 5:16 PM IST
अब यूपी वालों को गुमराह नहीं कर पाएगा कोई 'नशा', 2022 में बनेगी सपा की सरकार: अखिलेश
2022 में बनेगी सपा की सरकार

पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि हाल ही में उपचुनावों में जनता ने सपा (SP) का साथ दिया है और हमें यकीन है कि 2022 में भी हाथ नहीं छोड़ेगी.

  • Share this:
लखनऊ. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के अध्यक्ष अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) ने 2022 में प्रदेश में अपनी पार्टी की सत्ता में वापसी का दावा किया है. अखिलेश ने भरोसा जताते हुए कहा कि अब कोई नोटबंदी या गुमराह करने वाला ‘नशा’ उन्हें और उनकी पार्टी को रोक नहीं सकता है.

अखिलेश ने गिनाए नोटबंदी के जख्म
नोटबंदी के दौरान तीन साल पहले बैंक की लाइन में पैदा हुए बच्चे ‘खजांची’ के जन्‍मदिन समारोह से इतर मीडिया से बातचीत में अखिलेश ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी से मिले जख्‍म अब ज्‍यादा गहरे हो गये हैं. उन्‍होंने कहा ‘जब से मैंने लोगों के चेहरे पढ़े हैं, उनकी परेशानी देखी है, भरोसा हो गया है कि प्रदेश में अगली सरकार सपा की बनेगी. इस बार ना उसे नोटबंदी रोक सकती है और ना ही जीएसटी. वह नशा भी नहीं रोक पायेगा, जो लोगों को गुमराह कर देता है. आज नौकरी और रोजगार का सवाल ज्‍यादा बड़ा हो गया है.’

2022 में जनता देगी सपा का साथ

पूर्व मुख्‍यमंत्री ने कहा कि हाल ही में उपचुनावों में जनता ने सपा का साथ दिया है और हमें यकीन है कि 2022 में भी हाथ नहीं छोड़ेगी. साथ ही उन्होंने कहा कि भले ही ईवीएम के जरिए हुए उपचुनावों में सपा को जीत और जनता का समर्थन मिला हो, लेकिन वह मतपत्रों के जरिए चुनाव की मांग करती रही है और आगे भी करती रहेगी.

'...कम से कम खजांची तो पैदा हुआ'
अखिलेश ने नोटबंदी पर तंज करते हुए कहा कि उसकी सबसे बड़ी उपलब्धि है ‘खजांची’ का बैंक की लाइन में जन्म होना. उन्होंने कहा, 'भ्रष्‍टाचार खत्‍म हुआ हो या नहीं, कालाधन खत्‍म हुआ हो या नहीं, आतंकवाद खत्‍म हुआ हो या न हुआ हो, कम से कम खजांची तो पैदा हुआ. लेकिन, अगर उसके जीवन में बदलाव नहीं आया तो समझिए हममें से किसी का जीवन नहीं बदला’.
Loading...

बीजेपी पर इस तरह साधा निशाना
सपा अध्‍यक्ष ने सरकार से पूछा कि आखिर बाजार में कितनी नकदी है और कितना निवेश आया है? देश में बेरोजगारी बढ़ी है, जीडीपी घटी है, पड़ोसी देशों के मुकाबले हमारा रुपया गिर रहा है. केन्द्र पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, ‘हमारी अर्थव्‍यवस्‍था अगर वैसी ही होती जैसा कि भाजपा कह रही है तो शायद इतने बैंक नहीं डूबते.’

जनता को सच बताना चाहिए
अखिलेश ने प्रदेश के ऊर्जा विभाग में हुए कर्मचारी भविष्‍य निधि घोटाले से जुड़े एक सवाल पर कहा कि सब जानते हैं कि इस मामले में सरकार किसे बचा रही है. सरकार यह नहीं बता रही है कि निजी बैंक में गलत तरीके से धन का लेन-देन किन-किन तारीखों में हुआ. जनता इस बारे में सबकुछ जानना चाहती है. यह कर्मचारियों की भविष्‍य निधि का सवाल है. सरकार को जनता को सच बताना चाहिए.

पहले कभी इतनी असुरक्षित नहीं थी महिलाएं
उन्‍होंने कहा कि प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ सरकार के कार्यकाल में भ्रष्‍टाचार चरम सीमा पर है. इतना भ्रष्‍टाचार पहले कभी नहीं रहा. ऐसा कोई विभाग नहीं है, जहां भ्रष्‍टाचार न हो. पुलिस जितना अन्‍याय कर रही है उसे सोचा भी नहीं जा सकता. बहन-बेटियां पहले कभी इतनी असुरक्षित नहीं थीं. हर जगह भाजपा के लोग अपराधियों को बचाने की कोशिश कर रहे हैं.

अखिलेश ने इस मौके पर गेस्‍ट हाउस मामले में सपा संस्‍थापक मुलायम सिंह यादव के खिलाफ दर्ज मामला वापस लेने के लिये बसपा अध्‍यक्ष मायावती को धन्‍यवाद भी दिया.

ये भी पढ़ें: 

अयोध्या विवाद पर फैसले को लेकर जुमे की नमाज में मांगी गई अमन-चैन की दुआ

अयोध्या विवाद: वो IAS, जिसने आडवाणी को गिरफ्तार करने से किया था इनकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2019, 5:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...