राजभर का योगी सरकार से इस्‍तीफा, कहा- अपने सिंबल पर चुनाव लड़वाना चाहती थी BJP
Lucknow News in Hindi

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) के प्रमुख ओमप्रकाश राजभर के साथ-साथ उनके सहयोगियों ने भी इस्तीफा दे दिया है.

  • Share this:
सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के प्रमुख ओमप्रकाश राजभर और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच महीनों से जारी उठा-पटक का आखिरकार पटाक्षेप हो गया है. राजभर ने योगी कैबिनेट से इस्‍तीफा दे दिया है. उन्‍होंने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. राजभर ने कहा कि बीजेपी एक भी सीट देने को तैयार नहीं थी. बकौल राजभर, भाजपा चाहती थी कि वह कमल के सिंबल पर लोकसभा चुनाव लड़ें.

ओम प्रकाश राजभर ने बताया कि जब बीजेपी ने कमल के सिंबल पर चुनाव लड़ने के लिए कहा तभी मैंने 13 अप्रैल की रात को राज्य मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था. राजभर ने बताया कि मैंने बीजेपी से कहा था कि मैं अपने सिंबल पर चुनाव लड़ना चाहता हूं और हम सिर्फ एक ही सीट पर चुनाव लड़ेंगे. लेकिन वे लोग इस बात को लेकर राजी नहीं हुए और मेरा इस्तीफा भी स्वीकार नहीं किया गया. मैंने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज करा दी है.


दर्जा प्राप्त दो मंत्रियों ने भी इस्तीफा दिया



उत्तर प्रदेश के पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांग जन सशक्तिकरण मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने बलिया में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए इस बात का खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि मेरे साथ-साथ भाजपा सरकार से दर्जा प्राप्त दो मंत्रियों ने भी इस्तीफा दे दिया है और अब उनका बीजेपी से कोई रिश्ता नहीं है.

नाम का गलत इस्तेमाल 

ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि अब भाजपा मेरे नाम का गलत इस्तेमाल कर रही है. मेरे साथ मेरे सहयोगियों ने भी अपने दायित्यों से इस्तीफा दे दिया है. उसके बाद भी ऐसा किया जा रहा है, यह ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि चुनावी लाभ लेने के लिए भाजपा अपने कार्यक्रमों में हमसे जुड़े फोटो और झंडे का इस्तेमाल कर रही है.

39 सीटों पर उम्मीदवार उतारे

बता दें कि भाजपा से सीट बंटवारे को लेकर सहमति न बनने के बाद राजभर ने पूर्वांचल और अवध की 39 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए हैं, जिनमें पीएम मोदी की वाराणसी सीट भी शामिल है. दरअसल भाजपा ने राजभर के बेटे अरविंद राजभर को घोसी सीट से चुनाव लड़ाने की बात कही थी. लेकिन भाजपा चाहती थी की अरविंद राजभर भाजपा के सिंबल पर चुनाव लड़ें. जिसके लिए ओमप्रकाश राजभर तैयार नहीं हुए.

ये भी पढ़ें-

स्मृति ईरानी का बड़ा आरोप, कहा- बूथ कैप्चरिंग के लिए अमेठी आए राहुल

स्मृति का प्रियंका पर तंज- 5 साल पहले नहीं जानती थीं मुझे, आज पति से ज्यादा लेती हैं मेरा नाम

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज