ओमप्रकाश राजभर बोले- मेरे तीनों विधायक चट्टान की तरह SBSP के साथ

तीन विधायकों द्वारा पार्टी का साथ छोड़ने की खबर को ओमप्रकाश राजभर ने अफवाह करार दिया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 22, 2019, 12:38 PM IST
ओमप्रकाश राजभर बोले- मेरे तीनों विधायक चट्टान की तरह SBSP के साथ
ओमप्रकाश राजभर की फाइल फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 22, 2019, 12:38 PM IST
योगी सरकार से हटाए गए सुहेलदेव भरतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने अपने तीन विधायकों की नाराजगी और पार्टी छोड़ने की खबर को अफवाह बताया है. बुधवार को ट्वीट कर राजभर ने कहा उनके तीनों विधायक चट्टान की तरह सुभासपा के साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा कि हम सभी लोग संघर्ष के साथी हैं. बीजेपी कितना भी कोशिश कर ले उनके मंसूबे कामयाब नहीं होंगे.

दरअसल, सियासी हलकों में चर्चा है कि सुभासपा के तीन विधायक राजभर से नाराज हैं और वे पाला बदल कर बीजेपी का दामन थाम सकते हैं. इस बात की तस्दीक राजभर का बयान भी कर रहा था जो उन्होंने यूपी सरकार से हटने के बाद दिया था. उन्होंने कहा था कि जिसको जहां जाना है जाए, हम किसी को नहीं रोकेंगे.

 


उधर, कुशीनगर से रामकोला के विधायक रामानंद बौद्ध ने भी राजभर और पार्टी में आस्था व्यक्त करते हुए कहा, 'दलितों, पिछड़ों और गरीबों के हक के लिए लड़ने वाले राजभर जी एक महान व्यक्ति हैं, जिसके नेतृत्व में मुझे काम करने का सौभाग्य मिला है. हम गुलामी पसंद नहीं करते. बीजेपी हम लोगों से गुलामी कराना चाहती है. हम सब सुभासपा संग पूरे दम-खम के साथ खड़े हैं.'

गौरतलब है कि वर्ष 2002 में बसपा से अलग होकर सुभासपा का गठन करने वाले राजभर साल 2017 में पहली बार विधानसभा पहुंचे और मंत्री बने. राजभर के साथ उनकी पार्टी के तीन सदस्य भी जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं. वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में सुभासपा ने बीजेपी के साथ मिलकर आठ सीटों पर चुनाव लड़ा था. राजभर खुद गाजीपुर की जहूराबाद सीट से चुनाव जीते थे. त्रिवेणी राम भी इसी जिले की जखनिया और कैलाशनाथ सोनकर वाराणसी की अजगरा और रामानंद बौद्ध कुशीनगर की रामकोला सीट से चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचे.

लंबे समय से 'नाराज' हैं विधायक

पार्टी सूत्रों के अनुसार, पार्टी के तीनों विधायक राजभर की उपेक्षा की वजह से लंबे समय से नाराज चल रहे हैं. यही वजह है कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान तीनों ने राजभर के कार्यक्रम से दूरी बनाए रखी. इसके अलावा राज्यसभा चुनाव के दौरान भी राजभर के एक विधायक ने क्रॉस वोटिंग की थी.

सूत्रों की मानें तो बीजेपी इस नाराजगी का फायदा उठाने की तैयारी में है. बीजेपी ने तीनों असंतुष्ट विधायकों को अपने पाले में लाने का प्रयास तेज कर दिया है. तीनों विधायक को अपने पाले में लाकर राजभर को तगड़ा झटका देने की तैयारी बीजेपी ने शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें: 

जानिए चुनाव बाद कहां हैं हेमामालिनी, जया प्रदा, रवि किशन और निरहुआ

बसपा के कद्दावर नेता रामवीर उपाध्याय को पार्टी से किया गया निलंबित

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...