लाइव टीवी

डीजीपी बोले- 25 हजार होमगार्ड जवान बेरोजगार नहीं, कुछ वक्त के लिए ड्यूटी खत्म

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 15, 2019, 11:22 AM IST
डीजीपी बोले- 25 हजार होमगार्ड जवान बेरोजगार नहीं, कुछ वक्त के लिए ड्यूटी खत्म
डीजीपी ओपी सिंह ने कहा होमगार्ड जवानों को ड्यूटी से हटाना अस्थाई व्यवस्था

डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने कहा कि होमगार्ड (Home Guard)हमारी सुरक्षा व्यवस्था का मजबूत स्तंभ है. वे किसी भी मायने में हमारे पुलिस के जवानों से कम नहीं हैं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के 25 हजार होमगार्ड जवानों (Home Guard Jawans) की सेवाएं लेने से इनकार करने के बाद यूपी पुलिस (UP Police) के डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने कहा है कि उन्हें बेरोजगार नहीं किया गया है. बल्कि कुछ समय के लिए ड्यूटी ख़त्म की गई है. ऐसा सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश के बाद बढ़े वेतन और बजट को देखते हुए किया गया है. हालांकि डीजीपी ने यह स्पष्ट नहीं किया कि कब तक उनकी ड्यूटी नहीं लगेगी.

न्यूज़18 से बातचीत में डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि होमगार्ड हमारी सुरक्षा व्यवस्था का मजबूत स्तंभ है. वे किसी भी मायने में हमारे पुलिस के जवानों से कम नहीं हैं. लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उनका दैनिक वेतन बढ़कर 672 रुपए कर दिया गया. दुर्भाग्यवश ऐसी स्थिति पैदा हुई कि हम फिलहाल ये मानदेय देने में असमर्थ हैं. जिसकी वजह से 25 हजार जवानों को सेवाओं से हटा दिया गया है. उन्हें बेरोजगार नहीं किया गया है. अस्थायी रूप से उनकी सेवाएं हटा दी गई हैं. आने वाले समय में फिर से उनकी तैनाती पर विचार किया जाएगा. उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में जब शासन की तरफ से बजट की व्यवस्था होगी तो उन्हें फिर से ड्यूटी पर लगाया जाएगा. हालांकि डीजीपी ने यह नहीं बताया कि कब तक वे ड्यूटी से मुक्त रहेंगे.

ड्यूटी के हिसाब से ही मिलता है वेतन

बता दें होमगार्ड के जवानों को उनकी ड्यूटी के हिसाब से ही वेतन मिलता है. यानि अगर 25 दिन उसकी ड्यूटी लगती है तो उसे वर्तमान में प्रतिदिन के 500 रुपए के हिसाब से ही वेतन मिलेगा. इस पर कोई अन्य भत्ता नहीं मिलता. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद दैनिक वेतन 500 रुपए से बढ़कर 672 रुपए हो गया है. बड़ा सवाल ये है कि ऐसे में अगर उन्हें ड्यूटी पर लगाया ही नहीं जाएगा तो वेतन कहां से मिलेगा.

प्रयागराज पुलिस मुख्यालय से जारी हुआ आदेश

दरअसल, पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने यूपी के होमगार्ड्स के वेतन को लेकर एक आदेश दिया था. अपने इस आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने होमगार्ड के जवानों का दैनिक वेतन यूपी पुलिस के सिपाही के बराबर देने को कहा था. इस आदेश के बाद होमगार्ड के जवानों को बड़ी राहत मिलने की उम्मीद थी. लेकिन पुलिस महकमे के इस फैसले से अब उन्हें मायूसी हाथ लगी है. दरअसल, यूपी पुलिस अब तक सूबे में कानून व्यवस्था को कायम रखने के लिए होमगार्ड्स के जवानों की मदद ले रहा था, लेकिन अब यूपी पुलिस ने 25 हजार जवानों की सेवाएं लेने से इनकार कर दिया है. एडीजी पुलिस मुख्यालय वीपी जोगदंड ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है.

इस आदेश में कहा गया है कि कानून-व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस विभाग में रिक्तियों के सापेक्ष 25 हजार होमगार्ड की ड्यूटी लगाई गई थी. 28 अगस्त को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस ड्यूटी को समाप्त करने का निर्णय लिया गया था. इसी क्रम में शुक्रवार को पुलिस मुख्यालय प्रयागराज की ओर से जारी आदेश में होमगार्ड की तैनाती तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गई है.दरअसल, कहा जा रहा है कि पुलिस के सिपाही के बराबर दैनिक वेतन देने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद प्रदेश में होमगार्ड का वेतन 500 रुपए से बढ़कर 672 रुपए हो गया था. इसका सीधा प्रभाव पुलिस के बजट पर पड़ रहा था. इसी को देखते हुए यह निर्णय लिया गया.

ये भी पढ़ें:

झांसी एनकाउंटर केस: पुष्पेंद्र यादव की दादी को लगा सदमा, मौत से मचा कोहराम

अयोध्या: SC का निर्देश-UP सुन्नी वक्फ बोर्ड के प्रमुख को सुरक्षा दे योगी सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 11:22 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर