लाइव टीवी

शामली live murder: यूपी की सियासत में आया उबाल, विपक्ष ने मांगा सीएम योगी का इस्तीफा

Ajayendra Rajan | News18Hindi
Updated: November 27, 2018, 1:58 PM IST

जहां समाजवादी पार्टी ने शामली लाइव मर्डर केस पर यूपी की कानून व्यवस्था राम भरोसे होने की संज्ञा दी है, वहीं कांग्रेस ने मामले में सीएम योगी से नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मांग लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2018, 1:58 PM IST
  • Share this:
शामली जनपद में पुलिस के सामने युवक की हत्या का एक लाइव वीडियो वायरल होने से हड़कंप मचा हुआ है. वीडियो में दिख रहा है कि दबंगों ने डायल-100 की गाड़ी से खींचकर युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी. पूरी वारदात के वक्त पुलिस मूकदर्शक बनी रही. उधर मामले में सियासत भी तेज हो गई है. समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने इस घटना को शर्मनाक बताते हुए योगी सरकार पर हमला किया है. जहां सपा ने इसे कानून व्यवस्था राम भरोसे होने की संज्ञा दी है, वहीं कांग्रेस ने मामले में सीएम योगी से नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मांग लिया है.

शामली: डायल-100 की गाड़ी से खींचकर युवक की पीट-पीटकर हत्या, VIDEO वायरल

बता दें पूरा मामला शामली जनपद के थाना झिंझाना क्षेत्र का है, जहां हथछोया गांव के एक युवक तरशपाल की जान पुलिस कस्टडी में चली गई. तरशपाल का शराब के नशे में गांव के कुछ युवकों से विवाद हो गया था. जिसमें पहले लोगों ने उसकी पिटाई की और फिर 100 डायल टीम को सूचना दी. जिसके बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची और तरशपाल को हिरासत में ले लिया. लेकिन जिन युवकों के साथ उसका झगड़ा हुआ वो गिरफ्तारी से खुश नहीं थे. उन्होंने डायल 100 टीम के सामने ही तरशपाल को पीटने लगे. पहले गाड़ी में ही पुलिसकर्मियों के सामने पीटा और फिर भी मन नही भरा तो गाड़ी से खींचकर नीचे उतारा और उसकी पिटाई की. पिटाई से घायल हुए तरशपाल ने आखिर में दम तोड़ दिया.

उधर तरशपाल के परिजनों ने मौत के बाद जमकर हंगामा किया और हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. मामला दो समुदाय के बीच होने के चलते गांव में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

शामली में पुलिस के सामने LIVE मर्डर का VIDEO वायरल और मौन हैं जिला कप्तान

यूपी में कानून व्यवस्था राम भरोसे: अनुराग भदौरिया

उधर इस घटना पर समाजवादी पार्टी के अनुराग भदौरिया ने कहा कि बीजेपी सरकार में जेल के अंदर अपराधी शराब से लेकर गोली, असलहा सजाकर बैठते हैं. ये इनका रामराज्य है. राम राज्य में चाहे थाना हो, अंधेरा हो, दिन हो, कोई किसी को भी मार दे, कोई किसी का रेप कर दे, कुछ गलत नहीं है. क्योंकि ये रामराज्य है और इनके रामराज्य में सब जायज है.अब डायल 100 की गाड़ी से युवक को खींचकर मार डाला जाए तो पुलिस का खौफ कहां है. उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था की हालत छोड़िए यहां जंगल छोड़िए बीहड़ राज्य चल रहा है. कानून व्यवस्था राम भरोसे है. अनुराग भदौरिया ने कहा कि समाजवादी पार्टी मांग करती है कि शामली की घटना में सबसे पहले एसपी के खिलाफ एक्शन लिया जाए, इसके अलावा सभी पुलिस अफसरों को तलब किया जाए.

नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दें मुख्यमंत्री: अंशू अवस्थी

कांग्रेस के प्रवक्ता अंशू अवस्थी कहते हैं कि मुख्यमंत्री से रेप पीड़ित महिला इंसाफ मांगने आती है. उसे इंसाफ नहीं मिलता है आखिरकार वह आत्महत्या करती है. मुख्यमंत्री के गृह जनपद में हत्याएं हो रही हैं. दुर्भाग्य ये है कि जिस प्रदेश के मुख्यमंत्री पर ही गंभीर आरोप हों, तो उस प्रदेश का क्या होगा, वहां की पुलिस व्यवस्था क्या होगी?

अंशु अवस्थी ने कहा कि मुख्यमंत्री और बीजेपी की सरकार ने पिछली व्यवस्था को सुधारने के लिए 6 महीने का समय मांगा था. आज 19 महीने हो गए, अभी भी व्यवस्था जस की तस है. सीएम योगी आदित्यनाथ पूरी तरह से प्रशासन को संभालने में असफल रहे हैं. अब उनको नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए. उन्हें मठ चले जाना चाहिए क्योंकि सरकार चलाना उनके बस की बात नहीं है.

ये भी पढ़ें: 

वाराणसी धर्म संसद में सबसे कम उम्र की साध्वी, Google की नौकरी छोड़ अपनाया है वैराग

जानिए यूपी में PCS परीक्षा से लेकर UPTET तक कैसे 'सवालों' के फेर में फंसी है योगी सरकार

अमेठी: राहुल गांधी ने मलिक मोहम्मद जायसी के नाम जारी किए 28 लाख रुपए

मेरठ: 12 घंटे में दूसरा पुलिस एनकाउंटर, 1 बदमाश ढेर, 4 गौवंश बरामद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुजफ्फरनगर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2018, 1:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर