UP: भाजपा और यूपी सरकार की तमाम खबरों पर क्या सोच रहा है विपक्ष, जानिए

भाजपा और यूपी सरकार की तमाम खबरों पर क्या सोच रहा है विपक्ष (File photo)

भाजपा और यूपी सरकार की तमाम खबरों पर क्या सोच रहा है विपक्ष (File photo)

इन सबके बीच सपा नेता (SP Leader) अनुराग भदौरिया कहते हैं कि भाजपा (BJP) को जनता की नहीं हैं. उसे सत्ता की चिंता हैं. यूपी में पंचायत चुनाव क्या हार गए लगे सरकार और संगठन की बैठक करने.

  • Share this:

लखनऊ. यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी (BJP) पूरी तरह से एक्शन मोड में है. पिछले दिनों संगठन महामंत्री बीएल संतोष और राधामोहन सिंह के दौरे के बाद ऐसी हलचल थी कि भाजपा और यूपी सरकार में बड़ा बदलाव हो सकता है. रणनीतिक तैयारियों के तहत बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष और यूपी प्रभारी राधामोहन सिंह की रिपोर्ट केंद्रीय नेतृत्व के पास पहुंच चुकी है. रिपोर्ट मिलने के बाद राधामोहन सिंह दोबारा लखनऊ का दौरा करते हैं. उधर सपा प्रमुख के बंद लिफाफे वाले ट्वीट के बाद भाजपा की तरफ से कोई बयान सामने नहीं आया है. वहीं एक बार फिर बीजेपी के अंदरखाने सियासी गलियारों में घमासान मचा है, जिससे अटकलों का दौर जारी है.

इन सबके बीच सपा नेता अनुराग भदौरिया कहते हैं कि भाजपा को जनता की नहीं हैं. उसे सत्ता की चिंता हैं. यूपी में पंचायत चुनाव क्या हार गए लगे सरकार और संगठन की बैठक करने. वहीं दिल्ली से बीएल संतोष और राधामोहन सिंह लखनऊ पहुंच गए. भदौरिया ने कहा कि दिल्ली आए नेता लगे संगठन और सरकार की बैठक करने जिससे कैसे 2022 का विधान सभा चुनाव जीता जाएं. उन्होंने कहा कि जनता कोरोना से कहराती रही, वहीं कितने लोगों की कोरोना से मौत हो गई. आपके गलत फैसले के कारण कोरोना महामारी गांव-गांव तक फैल गया. लेकिन आपको इसकी चिंता नहीं. सपा नेता अनुराग ने कहा, इससे बड़ी शर्म की बात क्या हो सकती है, भाजपा सरकार को जनता से ज्यादा सत्ता की चिंता है.

Meerut: मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी, मस्जिदों से शुरू हुआ ये ऐलान

यूपी में बदलाव और संगठन की बैठक पर कांग्रेस प्रवक्ता अंशु अवस्थी ने कहा, यूपी में भाजपा सरकार के 4 साल से ज्यादा वक्त गुजर चुका है.' ऐसे में विधानसभा चुनाव से कुछ दिनों पहले नींद तब टूटी जब बेरोजगारी, क्राइम और कोरोना महमारी से जनता टूट चुकी थी. उन्होंने कहा कि भाजपा को कोशिश लोगों को भ्रमित करने की है, लेकिन लोग भ्रमित होने वाले नहीं है. अवस्थी आगे कहते हैं कि जिम्मेदारी भाजपा की भी, सिर्फ आदित्यनाथ की नहीं है.
राधामोहन सिंह ने कही ये बात

मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चल रही चर्चाओं को यूपी प्रभारी राधामोहन सिंह ने एक सिरे से खारिज करते हुए कहा कि ऐसा कुछ मामला नहीं है. उत्तर प्रदेश सरकार और संगठन बहुत मजबूती के साथ काम कर रहा है और देश में सबसे लोकप्रिय सरकार उत्तर प्रदेश की है.

फेरबदल के कयास



दरअसल, छह महीने बाद प्रदेश में विधानसभा चुनाव हैं. ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि योगी कैबिनेट में फेरबदल होगा और एमएलसी बने एके शर्मा को कैबिनेट में कोई बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है. हालांकि, बीजेपी के पदाधिकारी इससे इनकार कर रहे हैं, लेकिन पार्टी पदाधिकारियों की बैठकें और बीजेपी प्रभारी की राज्यपाल से मुलाकात को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज