लाइव टीवी

रास्ता खुला है, पाकिस्तान जा सकते हैं ओवैसी: साक्षी महाराज
Lucknow News in Hindi

News18
Updated: July 25, 2015, 11:02 AM IST
रास्ता खुला है, पाकिस्तान जा सकते हैं ओवैसी: साक्षी महाराज
मुंबई सीरियल बम धमाकों के दोषी याकूब मेमन के फांसी की सजा के मुद्दे पर एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदु्द्दीन ओवैसी की प्रतिक्रिया से नया विवाद पैदा हो गया है, उन्होंने कहा कि याकूब को उसके धर्म की वजह से फांसी दी जा रही है.

मुंबई सीरियल बम धमाकों के दोषी याकूब मेमन के फांसी की सजा के मुद्दे पर एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदु्द्दीन ओवैसी की प्रतिक्रिया से नया विवाद पैदा हो गया है, उन्होंने कहा कि याकूब को उसके धर्म की वजह से फांसी दी जा रही है.

  • News18
  • Last Updated: July 25, 2015, 11:02 AM IST
  • Share this:
मुंबई सीरियल बम धमाकों के दोषी याकूब मेमन के फांसी की सजा के मुद्दे पर एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदु्द्दीन ओवैसी की प्रतिक्रिया से नया विवाद पैदा हो गया है, उन्होंने कहा कि याकूब को उसके धर्म की वजह से फांसी दी जा रही है.

याकूब मेमन की फांसी पर बयानों का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है एमआईएम (ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की प्रतिक्रिया के जवाब में बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने कहा है कि जिन्हें न्यायपालिका का फैसला मंजूर नहीं है, उन्हें पाकिस्तान चले जाना चाहिए.

भाजपा ने ओवैसी पर सांप्रदायिक राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इससे बुरा और कुछ नहीं हो सकता है. वहीं केंद्रीय कानून मंत्री सदानंद गौड़ा ने कहा कि इस तरह का बयान ओवैसी की मानसिकता को दर्शाता है. एमआईएम की इस प्रतिक्रिया पर वरिष्ठ अधिवक्ता राम जेठमलानी ने निंदा करते हुए कहा कि निंदा यह ठीक नहीं है इस तरह के मामलों में हमारे न्यायालय निष्पक्ष हैं.

आपको बता दें कि ओवैसी ने याकूब को मिली मौत की सजा पर सवाल उठाते हुए कहा था कि क्या अयोध्या में विवादित ढांचे को गिराए जाने मुंबई और गुजरात में सांप्रदायिक दंगों तथा दूसरे ऐसे सनसनीखेज मामलों में भी इसी तरह की सजा दी जाएगी. ओवैसी ने हैदराबाद में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बाबरी मस्जिद को गिराने के गुनाहगारों को दोषी क्यों नहीं ठहराया गया और क्या उनको मौत को सजा मिलेगी?



याकूब की फांसी को लेकर इन दिनों विवाद छिड़ा हुआ है, हालांकि तमाम दलों ने ओवैसी के बयान की आलोचना की है, लेकिन साक्षी के बोल ज्यादा ही कठोर रहे. रॉ के पूर्व दिवंगत अफसर के कॉलम से खुलासा हुआ कि वह भी याकूब की फांसी के पक्ष में नहीं थे.

अपने बयानों से लगातार विवादों में रहने वाले साक्षी महाराज ने ओवैसी पर पलटवार करते हुए एक और विवाद पैदा कर दिया. संसद भवन के बाहर उन्होंने कहा मेरा मानना है कि जो इस देश का सम्मान नहीं कर सकते, राष्ट्रीय झंडे का सम्मान नहीं कर सकते, भारत के संविधान का सम्मान नहीं कर सकते, न्यायपालिका का सम्मान नहीं कर सकते तो ऐसे लोगों को भारत में रहने का कोई हक नहीं है. रास्ता खुला है वे आराम से पाकिस्तान जा सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2015, 9:41 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर