Home /News /uttar-pradesh /

UP Election 2022: डिप्टी CM केशव मौर्य के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी पल्लवी पटेल, अखिलेश से मुलाकात के बाद हुई तैयार

UP Election 2022: डिप्टी CM केशव मौर्य के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी पल्लवी पटेल, अखिलेश से मुलाकात के बाद हुई तैयार

सिराथू से सपा गठबंधन प्रत्याशी पल्लवी पटेल के नामांकन में पूर्व सांसद डिंपल यादव के आने की संभावना है.

सिराथू से सपा गठबंधन प्रत्याशी पल्लवी पटेल के नामांकन में पूर्व सांसद डिंपल यादव के आने की संभावना है.

UP News: दरअसल, पल्लवी पटेल ने पहले इस सीट पर चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था. उनकी उम्मीदवारी का एलान सपा ने दो फरवरी को किया था पर वह अपनी सीट पर सहमत नहीं थीं. हालांकि, सपा नेतृत्व से बातचीत पर वह सिराथू सीट से चुनाव लड़ने को तैयार हो गई हैं. सिराथू से सपा गठबंधन प्रत्याशी पल्लवी पटेल के नामांकन में अखिलेश यादव की पत्नी पूर्व सांसद डिंपल यादव के आने की संभावना है.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव (UP Assembly Elections 2022) को लेकर सियासी पारा चढ़ चुका है. अपना दल (कमेरावादी) की नेता पल्लवी पटेल (Pallavi Patel) कौशांबी की सिराथू विधानसभा सीट से उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) के खिलाफ चुनाव लड़ने को तैयार हो गई हैं. वह सपा के सिंबल पर चुनाव लड़ेंगी. राजधानी लखनऊ में सोमवार को सपा मुख्यालय पहुंचकर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) प्रमुख अखिलेश यादव से मुलाकात की. बताया जा रहा है कि वह मंगलवार यानी 8 फरवरी को अपना नामांकन दाखिल करेंगी.

दरअसल, पल्लवी पटेल ने पहले इस सीट पर चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था. उनकी उम्मीदवारी का एलान सपा ने दो फरवरी को किया था पर वह अपनी सीट पर सहमत नहीं थीं. हालांकि, सपा नेतृत्व से बातचीत पर वह सिराथू सीट से चुनाव लड़ने को तैयार हो गई हैं.

सिराथू से सपा गठबंधन प्रत्याशी पल्लवी पटेल के नामांकन में अखिलेश यादव की पत्नी पूर्व सांसद डिंपल यादव के आने की संभावना है.

2014 के उपचुनाव में सपा ने दर्ज की जीत
सिराथू सीट के इतिहास की बात करें तो आज यह तक यहां से सपा ने सिर्फ साल 2014 के उपचुनाव में जीत दर्ज की थी. साल 1993 से लेकर साल 2007 तक यह क्षेत्र आरक्षित था और बहुजन समाज पार्टी के विधायक ने ही जीत हासिल की लेकिन साल 2012 में जब सीट सामान्य हुई तो भाजपा नेता केशव प्रसाद मौर्य ने यहां से जीत दर्ज की. सिराथू सीट से साल 2012 में केशव प्रसाद मौर्य ने ना सिर्फ जीत दर्ज की बल्कि इसके बाद उनके राजनीतिक करियर का ग्राफ उपर ही चढ़ता गया.

क्या है सिराथू का जातीय गणित
सिराथू के जातीय समीकरण की बात की जाए तो यहां 3 लाख 80 हजार 839 वोटर हैं. दावा किया जाता है कि इसमें से 19% सामान्य जाति के, 33% दलित, 13% मुस्लिम और करीब 34% पिछड़े वर्ग से हैं. पिछड़ों में पटेल मतदाताओं की भूमिका यहां अहम मानी जाती है. समाजवादी पार्टी यहां जातीय समीकरण के आधार पर जीत दर्ज करने की कोशिश में है. इस सीट पर दलितों की संख्या सबसे ज्यादा है. ऐसे में बसपा भी जीत की उम्मीद लगाए बैठी है. BSP ने यहां से संतोष त्रिपाठी को टिकट दिया है.

Tags: Akhilesh yadav, Deputy CM Keshav Prasad Maurya, Kaushambi news, Lucknow news, Samajwadi party, UP Assembly Election 2022, UP BJP, UP Election 2022, UP politics

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर